अपनी शारीरिक अक्षमता के बावजूद पूरे भारत मे विशेष श्रेणी में इंटर की परीक्षा में टॉप किया

अपनी शारीरिक अक्षमता के बावजूद पूरे भारत मे विशेष श्रेणी में इंटर की परीक्षा में टॉप किया

CBSE की कक्षा12वी के परिणाम घोषित होने के बाद से अनेकों कहानियां सामने आ रही हैं , कोई सभी विषयों में पूर्ण अंक लाया है तो कोई आजतक का सबसे बढ़िया प्रदर्शन किया है। ऐसी ही एक खास कहानी है अनुष्का पांडा की , जिन्होंने शारीरिक अपंगता के बावजूद पूरे भारत में इस श्रेणी में सबसे अधिक अंक लाया अनुष्का ने फिजिक्स में 99% अंक के साथ ही औसतन 95.2 अंक हासिल किया है।

यह पहली बार नही हुआ जब अनुष्का ने इतने बेहतर मार्क्स लाकर सबको चकित कर दिया। बल्कि, 10 वीं की CBSE बोर्ड परीक्षा में भी इन्होंने अपने मेहनत का परिचय देते हुए, 500 में 489 अंक (97.8 %) हासिल किया था ।

अनुष्का मांसपेशियों की रीढ़ की हड्डी से पीड़ित हैं और वो व्हीलचेयर पर ही रहती हैं। लंबे समय तक वह पढ़ाई नहीं कर सकती है , एक घंटे तक पढ़ाई करने के बाद उनके लिए लेटना आवश्यक हो जाता है , और वह लंबे समय तक नही बैठ पाती हैं । उनके पिता अनूप पांडा भिवाड़ी में एक एमएनसी के लिए काम करते है ।

अनुष्का को शतरंज खेलना पसंद है और वह आगे चलकर एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहती हैं , इसके साथ ही वह Google के साथ भी काम करना चाहती हैं। अनुष्का को पढ़ना, पेंटिंग करना और संगीत सुनना सबसे अधिक पसंद है। वह पिछले 10 वर्षों से शास्त्रीय संगीत सीख रही हैं ।

हर दिन अनुष्का कम से कम दो घंटे तक पढ़ाई करती हैं , इतनी देर बैठना उनके लिए एक बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने अपने सफलता का श्रेय अपने स्कूल को भी दिया, क्योंकि स्कूल ने उनकी काफी मदद की है। अनुष्का एक दिव्यांग है जिसके लिए स्कूल ने अलग से सहायता किया।

शारीरिक अक्षमता के बावजूद भी हार नही मानकर अनुष्का ने यह साबित कर दिया कि दृढ़ इक्षाशक्ति से हम कुछ बीबी हासिल कर सकते हैं। अनुष्का के उज्वल भविष्य के लिए Logically इन्हें शुभकामनाएं देता है।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!