UPSC के जुनून के कारण छोड़ी अपनी डॉक्टरी, पहले ही प्रयास में बनी आईएएस: Dr. Renu Raj

UPSC के जुनून के कारण छोड़ी अपनी डॉक्टरी, पहले ही प्रयास में बनी आईएएस: Dr. Renu Raj

अगर हमारे अंदर यूपीएससी (UPSC) में सफलता हासिल कर आईएएस (IAS) ऑफिसर बनने का जुनून सवार हो जाए, तो आपको कोई भी सफलता अच्छी नहीं लगती जब तक यूपीएससी (UPSC) क्रैक ना कर लें।

कुछ ऐसा ही कार्य रेनू राज (Renu Raj) के साथ भी हुआ है। उन्होंने अपनी डॉक्टरी की पढ़ाई को छोड़कर यूपीएससी (UPSC) में सफलता हासिल की है। उन्होंने एक आईएएस ऑफिसर बनने के लिए मेहनत किया और अपने सपने को साकार किया।

रेनू की शुरुआती शिक्षा

रेनू राज (Renu Raj) केरल की निवासी हैं। उन्होंने अपनी शुरुआती शिक्षा केरल के कोट्टायम के सेंट टैरेसा हायर सेकेंडरी स्कूल से हासिल की है। इसके उपरांत उन्होंने कोट्टायम के गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज से अपनी मेडिकल की पढ़ाई पूरी की।

यह भी पढ़ें :- टैक्सी ड्राइवर के नेत्रहीन बेटे ने निकाला यूपीएससी एग्जाम, 659वीं रैंक हासिल कर बना आईएएस अफसर
डॉक्टरी छोड़ शुरू की यूपीएससी की तैयारी

रेनू की मां एक गृहणी है और उनके पिता रिटायर्ड गवर्नमेंट ऑफिसर हैं। उनकी दो बहने भी हैं, जिनके पति डॉक्टर हैं। रेनू भी अपनी मेडिकल की डिग्री हासिल कर डॉक्टर बनी, लेकिन उन्होंने इसे छोड़कर यूपीएससी क्रैक करने का निश्चय किया और इसकी तैयारी में लग गईं। – success story of Dr. Renu Raj of becoming an IAS officer

आईएएस बनना था ताकि कर सकें सभी की मदद

रेनू का सपना आईएएस ऑफिसर बनने का था। उन्होंने ये सपना बचपन से ही संजोय रखा था। यह उस वक्त की बात है, जब वे एक सर्जन के तौर पर कार्य कर रही थी। उसी दौरान उन्हें ख्याल आया कि क्यों ना मैं अपने सपने को पूरा करूं? उनका मानना है कि अगर मैं डॉक्टर रहती तो 50-100 मरीजों की ही मदद कर पाती लेकिन आईएएस ऑफिसर होने के नाते मैं हर किसी की परेशानी समझ सकती हूं और उनकी मदद भी कर सकती हूं। – success story of Dr. Renu Raj of becoming an IAS officer

यूपीएससी में हासिल की 2वीं रैंक

रेनू ने यह जानकारी दी कि वर्ष 2013 से वह यूपीएससी की तैयारी में लग गई। इसके लिए उन्होंने प्रतिदिन 3 से 4 घंटे पढ़ाई किया। उन्होंने अपनी डॉक्टरी की प्रैक्टिस जारी रखते हुए यूपीएससी की तैयारी की।- success story of Dr. Renu Raj of becoming an IAS officer

वर्ष 2014 में उन्होंने यूपीएससी का पहला अटेम्प्ट दिया, जिसमें उन्होंने दूसरा स्थान हासिल कर आइएएस (IAS)ऑफिसर बनने का अपना सपना साकार किया। – success story of Dr. Renu Raj of becoming an IAS officer

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!