पिता ने सब्जी बेचकर पाला, बेटे को मिली Amazon जैसी बड़ी कम्पनी में नौकरी

पिता ने सब्जी बेचकर पाला, बेटे को मिली Amazon जैसी बड़ी कम्पनी में नौकरी

आज सारे माता-पिता यही चाहते उनके बच्चे की अच्छी सी नौकरी हो जाएं ताकि उन्हें उनके भविष्य में किसी भी चीज़ की कोई दिक्कत ना हो, जो बच्चे गरीब परिवार से आते है उनके माता पिता की भी यही इक्छा होती है कि उनके बच्चे की नौकरी लग जाए ताकि जो कष्ट उन्होंने किया है उनके बच्चे ना करें, आज हम आपको बताएंगे कि कैसे एक सब्जी बेचने वाले के बेटे को मिली अमेज़ॉन में नौकरी।

जीवनयापन के लिए बेचते थे सब्जी–

ऋषिकेश भासकर पुणे के रहने वाले है, उनके पिता सबिजयां बेचते है ताकि वो अपना घर चला सके, ऋषिकेश के घर की आर्थिक स्थिति अच्छी नही थी इस वजह से उनका बचपन काफी परेशनियो भरा रहा।वो काम मे अपनी पितां की मदद करते थे जब उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूरी कर ली उसके बाद उन्होंने IIT रूड़की में पढ़ाई की।

आर्थिक स्थिति ठीक करने के लिए बहुत कार्य-

ऋषिकेश इस बात से अच्छी तरह वाकिफ थे की जब तक वो अच्छे से पढ़ाई नही करेंगे तब तक उनकी स्थिति सुधरेगी नही, उन्होंने अपनी लक्ष्य प्राप्ति के लिए बहुत परिश्रम किया और अपनी पढ़ाई जारी रखी। अपनी आर्थिक स्थिति को ठीक करने के लिए उन्होंने नौकरी के साथ-साथ और भी बहुत कार्य किए जैसे- ऑनलाइन ट्यूटरिंग के लिए फ्रीलांस टेक राइटिंग जैसे कार्य ताकि उनकी और उनके माता-पितां की आर्थिक स्थिति अच्छी हो जाए।

सफलता का श्रेय परिवार और दोस्तो को दिया-

ऋषिकेश बैकएंड फाउंडेशन पाठ्यक्रम सीखने के लिए ज्यादा समय देते थे, उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय अपने दोस्तों और माता पिता को दिया है आगे वो कहते है कि इन सब लोगो ने मेरे लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए हमेशा प्रोत्साहित किया जिसका नतीजा है कि मैं आज इस मुकाम पर हूं।

ऋषिकेश हम सबके लिए प्रेरणास्रोत है हमे उनसे सीखना चाहिए, हमारी तरफ से उन्हें और उनके परिवार को ढेर सारी शुभकामनाएं।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Dhara Patel

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!