यूपी के स्कूलों और कॉलेजों में पढ़ाया जाएगा सड़क सुरक्षा, सिलेबस में जल्द होगा शामिल

उच्च शिक्षा विभाग जल्द ही सड़क सुरक्षा को कॉलेज पाठ्यक्रम में शामिल करेगा और इससे जुड़े अध्यायों को माध्यमिक और प्राथमिक स्तर या नैतिक शिक्षा की किताब में भी शामिल किया जाएगा.

शिक्षा से जुड़े सभी विभाग बहुमूल्य जीवन को बचाने के लिए सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए संयुक्त प्रयास करेंगे. यूपी के उच्च शिक्षा मंत्री योगेंद्र उपाध्याय ने कहा कि 21 जनवरी को होने वाले रन फॉर जी20 कार्यक्रम में सड़क सुरक्षा विषय को भी शामिल किया जाए.

सड़क सुरक्षा पर निबंध प्रतियोगिता आयोजित की जानी चाहिए

मंत्री ने कहा, सड़क सुरक्षा पर निबंध प्रतियोगिता सभी स्कूलों और कॉलेजों में एक ही दिन आयोजित की जानी चाहिए और स्कूलों/कॉलेजों में आयोजित सभा में सड़क सुरक्षा के लिए शपथ दिलाई जानी चाहिए

उन्होंने कहा कि सभी संस्थानों में एक साथ इन कार्यक्रमों के आयोजन से प्रयास और अधिक प्रभावी होंगे.उपाध्याय ने एक बयान में कहा कि वर्तमान संदर्भ में सड़क सुरक्षा एक संवेदनशील विषय है, यह जनता के बीच जागरूकता फैलाने का समय है.

सड़क हादसों पर जागरूकता जरूरी

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार 5 जनवरी से 4 फरवरी तक सड़क सुरक्षा माह का आयोजन कर रही है.उन्होंने कहा कि सड़क हादसों में जान-माल के नुकसान से बचने के लिए नागरिकों को यातायात नियमों का पालन करना जरूरी है और छात्रों में ट्रैफिक सेंस विकसित करने की जिम्मेदारी शिक्षा विभाग की है.

यूपी के तकनीकी शिक्षा मंत्री आशीष पटेल ने कहा कि अभियान को और प्रभावी बनाने के लिए तकनीकी कॉलेजों के छात्रों को प्रोजेक्ट के रूप में ट्रैफिक से जुड़ा काम दिया जाएगा.

इसमें छात्र अपने शहर के व्यस्ततम ट्रैफिक चौराहों को सुव्यवस्थित करने के तरीके सुझाएंगे. उन्होंने कहा कि सभी शिक्षण संस्थानों में सड़क सुरक्षा जागरूकता से संबंधित होडिर्ंग्स/पोस्टर भी लगाए जाएं.

यूपी के माध्यमिक शिक्षा राज्य मंत्री गुलाब देवी ने कहा कि माध्यमिक शिक्षा विभाग भी सड़क सुरक्षा अभियान को सफल बनाने में भागीदारी सुनिश्चित करेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!