22 साल की उम्र में पूरे घर को संभाला, पिता के देहांत से भी नहीं टूटा इस बेटी का हौसला

हमने अक्सर साहस और हौसले की ऐसी असल कहानियां सुनी है जिसपर कभी कभी यकीन करना भी मुश्किल हो जाता है। लोग हमेशा ऐसी कहानियों से प्रेरणा लेते आए है। ऐसी ही एक कहानी है हरियाणा के छोटे से शहर हिसार में रहने वाली 22 वर्षीय सोनी की।

नौकरी लगने के कुछ ही दिनों बाद पिता का देहांत हो जाने से सोनी के साथ-साथ उसका पूरा परिवार सदमे से गुजर रहा था। आठ भाई बहनों में कोई भी नहीं था जो घर का पालन पोषण कर सके। ऐसे में कोई भी आम इंसान हिम्मत हार सकता है, मगर सोनी का इरादा कुछ और ही था। उसने हिम्मत नही हारी और 22 साल की उम्र में ही अपने पूरे परिवार का सहारा बन गई।

परिवार का पालन पोषण करने के लिए सोनी ने हिसार डिपो में नौकरी करने का फैसला किया। अपने आठ भाई बहनों में तीसरी बहन सोनी यहां मैकेनिकल हेल्पर का काम करती हैं और उसी की कमाई से पूरे घर का पालन होता है। लोग यह देखकर हैरान है की इतनी कम उम्र में रोज सुबह उठकर सोनी हिसार डिपो जाती है और वहां खराब पड़ी बसों की मरम्मत करती है। उसके इस मेहनत और परिवार के प्रति प्यार को देखकर किसी का भी दिल भर आएगा।

आपको साथ में यह भी बताते चलें की सोनी मैकेनिकल हेल्पर के साथ साथ मार्शल आर्ट्स में भी निपुण है और नेशनल चैंपियन तक रह चुकी है। उन्होंने मार्शल आर्ट्स में नेशनल खेलों के अंदर तीन बार लगातार स्वर्ण पदक जीता है। सोनी को इसी प्रतिभा के कारण खेल कोटे से ही उन्हें हिसार डिपो में मैकेनिकल हेल्पर की जॉब मिली थी। अगर मार्शल आर्ट्स की बात करें तो इसे बेहद ही सुरक्षित खेल माना जाता है क्यूंकि इसमें प्रतिद्वंदी आपके चेहरे पर वार नही कर सकता।

सोनी ने मार्शल आर्ट्स भी अपने पिता के कहने पर ही सीखा था। उनके पिता का ख्वाब था की उनकी बेटी देश को मार्शल आर्ट्स में स्वर्ण पदक दिलाए। इसलिए उन्होंने 2016 में सोनी को मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग दिलानी शुरू की। सोनी के अंदर भी इतनी प्रतिभा थी की उन्होंने राष्ट्रीय खेलों में तीन बार स्वर्ण पदक जीता। मार्शल आर्ट्स से पहले सोनी कबड्डी में भी माहिर थी और अपने गांव के कबड्डी टीम का हिस्सा भी थी। मगर बाद में उसका मार्शल आर्ट्स के तरफ रुझान बढ़ा और उसने राष्ट्रीय स्तर पर मार्शल आर्ट्स में पदक हासिल किया।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!