IAS इनायत खान के सामने छात्रों को अंग्रेजी नहीं पढ़ा सके शिक्षक, DM ने ऑन द स्पॉट लिया एक्शन

बिहार के अररिया जिले की डीएम इनायत खान (IAS Inayat Khan) योजनाओं की जांच के लिए जोकीहाट प्रखंड के चीरह पंचायत पहुंचीं।

यहां उत्क्रमित मध्य विद्यालय चीरह में उन्होंने अपनी आंखों से जो हालात देखे, उसके बाद आन द स्पाट फैसला कर दिया। डीएम ने तत्काल वहां के दोनों शिक्षकों के तबादले का आदेश बीईओ प्रतिमा कुमारी को दे दिया।

दरअसल, निरीक्षण के दौरान डीएम ने शिक्षकों को अंग्रेजी पढ़ाने के लिए कहा। कक्षा तीन के छात्र-छात्राओं को प्रधानाध्यापक को छोड़ कोई भी शिक्षक अंग्रेजी पढ़ाने में समर्थ दिखाई नहीं दिया। इतना ही नहीं, डीएम ने बच्चों से गणित, अंग्रेजी, साइंस पढ़ाने वाले शिक्षकों का भी नाम पूछा लेकिन बच्चों ने कोई जवाब नही दिया।

पठन पाठन में सुधार का दिया निर्देश

उन्होंने प्रधानाध्यापक इश्तियाक आलम को पठन पाठन में सुधार का निर्देश दिया और बच्चों को ड्रेस में आने के लिए माता-पिता व अभिभावकों की बैठक बुलाने को कही। फिर उन्होंने प्राथमिक विद्यालय मजार टोला चीरह में जांच के दौरान शिक्षक और बच्चों के ड्रेस नहीं पहनने से नाराजगी जताई।

इनायत खान ने बच्चों से पूछा कि एमडीएम में अंडे मिलते हैं? इसपर बच्चों ने जवाब दिया, ‘मैडम जी, हां रविवार को अंडे मिलते हैं।’ इससे पहले डीएम ने चीरह मुखिया टोला स्थित आंगनबाड़ी सेविका रजिया बेगम की केंद्र में गई। जहां सीडीपीओ डा.

चांदनी के सामने बच्चों को वन, टू गिनती करने को कही। सिर्फ एक बच्चे ने वन, टू, थ्री सुनाया। फिर डीएम ने सभी बच्चों को ताली बजाने को कहा। बच्चे काफी खुश हुए।

शिक्षा व्यवस्था पर विशेष ध्यान रखने की बात

इसके अलावा उन्होंने मनरेगा, सात निश्चय, प्रधानमंत्री आवास योजना की भी गहन छानबीन की। डीएम धनगामा के परवेज डीलर, कलकली के आरफीन डीलर के जन वितरण की भी जांच की।

वहीं, पंचायत भवन पहुंचकर विकास योजनाओं के फाइलों की जांच की। डीएम ने चीरह की मुखिया हुस्नआरा शाहिद को शिक्षा व्यवस्था पर विशेष ध्यान रखने की बात कही।

जांच के दौरान चीरह पंचायत के धनगामा गांव में नल जल योजना की जांच के दौरान डीएम को नल में जल नही मिला। डीएम ने पीएचईडी के अभियंताओं से जानकारी मांगी है।

मौके पर मनरेगा, पीओ श्रवण कुमार ङ्क्षसह, सीडीपीओ डा. चांदनी, सीआइ कमरूल होदा, आवास पर्यवेक्षक गोपाल चौधरी, हल्का कर्मचारी मनोरंजन ङ्क्षसह आदि मौजूद थे। उधर बीडीओ मु. सिकंदर ने भी महलगांव पंचायत के योजनाओं की जांच की।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!