Ukraine सेना के साथ लड़ रहे भारतीय युवक के पिता ने कहा, ‘मेरा बेटा घर लौटना चाहता है’

रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध चल रहा है. लाखों लोग विस्थापित हो चुके हैं, यूक्रेन के सैंकड़ों सैनिक और आम नागरिकों की जान जा चुकी है. भारत के हज़ारों छात्र भारत लौट चुके हैं. ग़ौरतलब है कि कोयंबटूर, तमिलनाडु का एक छात्र यूक्रेन के पैरामिलट्री के साथ मिलकर रूस के ख़िलाफ़ युद्ध लड़ रहा है.

यूक्रेनी सेना के साथ रूस के ख़िलाफ़ लड़ रहा है एक भारतीय

तमिलनाडु सरकार ने घोषणा कर दी थी कि तमिलनाडु के सारे छात्र यूक्रेन से सुरक्षित लौट चुके हैं लेकिन कोयंबटूर के इस युवक के परिवार का कहना है कि वो अभी तक घर नहीं लौटा है.

युवक के पिता ने क्या कहा?

तमिलनाडु के इस छात्र का नाम आर.सैनीखेश है. 21 साल के ये छात्र ऐरोस्पेस इंजीनियरिंग का छात्र है. बीते शनिवार को सैनीखेश के पिता, रविचंद्रन ने कहा किक उनका बेटा घर लौटना चाहता है.

केन्द्रीय सरकार ने छात्र को सुरक्षित घर लाने का किया वादा

सैनीखेश के पिता, 52 वर्षीय रविचंद्रन ने कहा कि केन्द्रीय सरकार के अधिकारियों से उनकी बात हुई है. रविचंद्रन ने बताया, ‘केन्द्रीय सरकार के अधिकारी हमारे संपर्क में हैं और हमारे साथ हैं. उन्होंने हमसे वादा किया है कि वो हमारे बेटे की खोज करेंगे और वहां से निकालेंगे.’ रविचंद्रन ने बताया कि तीन दिन पहले उनकी सैनीखेश से बात हुई थी और वो भारत लौटने को राज़ी हो गया था.

सैनीखेश ने नहीं किया था भारतीय दूतावास से संपर्क?

इस पूरी घटना से वाकिफ़ एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि जब सैनीखेश के घरवालों ने उससे देश लौटने को कहा तब उसने ढंग से कोई जवाब नहीं दिया. सैनीखेश ने रूस यूक्रेन युद्ध शुरु होने के बाद भारतीय दूतावास से संपर्क नहीं किया. यूक्रेन सरकार विदेशियों को यूक्रेन के साथ लड़ने के लिए रोज़ाना 2000 डॉलर (लगभग 1.53 लाख रुपये) दे रही है. यूके, अमेरिका और यूरोप में ऐसे कई विज्ञापन सामने आए हैं.

भारतीय सेना में नहीं भर्ती हो पाए थे सैनीखेश

नेशनल एरोस्पेस यूनिवर्सिटी, खारकीव में फ़ाइनल इयर एरोस्पेस इंजीनियरिंग के छात्र, सैनीखेश ने भारतीय सेना में भर्ती होने की भी कोशिश की थी. भारतीय सेना ने लंबाई की वजह से उन्हें दो बार रिजेक्ट कर दिया. फरवरी में वो वॉलंटियर्स के पैरामिलिट्री यूनिट, जॉर्जियन नेशनल लीजन के साथ शामिल हुए.सैनीखेश के पिता रविचंद्रन ने मीडिया के ज़रिए सभी से अपने बेटे के लिए प्रार्थन करने का अनुरोध किया.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!