किसान के बेटे ने मेहनत के दम पर बदल दी अपनी किस्मत, पहले ही प्रयास में हासिल की सफलता, बने ADJ

हरियाणा के एक किसान के बेटे ने एक बार फिर से साबित कर दिखाया है कि मजबूत इच्छाशक्ति के दम पर बड़ी से मुसीबत को हरा कर अपना लक्ष्य पाया जा सकता है. यहां के एक किसान का बेटा अब उत्तर प्रदेश में एडीजे यानि अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायधीश के रूप में जाना जाएगा.

किसान के बेटे ने बढ़ाया मान

मेहनत और जज्बे की ये कहानी है लापरा गांव के किसान वाहिद हुसैन के बेटे शहजाद अली की. बड़ी बात ये है कि शहजाद अली ने उत्तर प्रदेश हायर जुडिशियल सर्विस की परीक्षा पहले ही प्रयास में पास कर ली.

उनकी इस जी तोड़ मेहनत का फल उन्हें तब मिला जब सोमवार रात को परीणाम घोषित हुए. इसके बाद तो उन्हें बधाई देने के लिए उनके घर पर भीड़ जुटने लगी.

पहले ही प्रयास में पाई सफलता

शहजाद अली ने पांचवीं तक की पढ़ाई अपने गांव के ही राजकीय प्राथमिक पाठशाला से की. इसके बाद उन्होंने आठवीं मंडौली गांव के सरकारी स्कूल तथा 12वीं की परीक्षा एसडी सीनियर सेकेंडरी स्कूल से पास की.

आगे की पढ़ाई उन्होंने एमएलएन कॉलेज से की. यहां से बीए पास करने के बाद उन्होंने चौधरी चरण सिंह मेरठ विश्‍वविद्यालय से एलएलबी की. वहीं, एलएलएम की परीक्षा उन्होंने कुरुक्षेत्र विश्‍वविद्यालय से पास की.

फिर महर्षि दयानंद विशवविदयालय रोहतक से उन्होंने अपनी एमबीए की पढ़ाई पूरी की. बता दें कि एडवोकेट शहजाद अली एमएस खान के नाम से मशहूर हैं.

जागरण की रिपोर्ट के अनुसार शहजाद खानके परिवार में उनकी मां अनीश खातून व पत्नी शाइना खान हैं, जो कि एक गृहणी है. इसके अलावा उनका बेटा अरसलाम खान, सेंट थामस में तीसरी क्लास में पढ़ता है. अली के दो छोटे भाई नसीम व नौशाद थर्मल प्लांट में क्लर्क व बीटेक कर प्राइवेट नौकरी कर रहे हैं.

दोस्त का मिला साथ

शहजाद अली ने दैनिक जागरण को अपने सफर के बारे में बताते हुए कहा कि उन्होंने 2007 में स्थानीय कोर्ट में वकालत की प्रैक्टिस शुरु की थी. इस दौरान एडवोकेट एसएस नेहरा उनके सहयोगी रहे.

खान बताते हैं कि जब वे तैयारी के लिए चंडीगढ़ गए तो एसएस नेहरा ने न केवल उनका पूरा काम संभाला बल्कि एक भाई की तरह उनका पूरा साथ भी दिया.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!