कभी घर में पैसे नहीं थे तो ऑटो चलाना शुरू कीं, लोग ताने मारते थे, अब महिलाओं को देती हैं ट्रेनिंग

हरियाणा के हिसार की रहने वाली प्रमिला पिछले 6 साल से ऑटो चला रही हैं. वह खुद ऑटो चला ही रही हैं दूसरी महिलाओं को भी ऑटो चलाना सिखा रही हैं. पहले लोग उनकी आलोचना करते थे और अब लोग उनकी तारीफ कर रहे हैं.

प्रमिला बाबरा मुहल्ले में रहती हैं. उनके घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी. ऐसे में उन्होंने ऑटो चलाने का मन बना लिया. उन्होंने चलाना सीखा. इसके बाद तत्कालीन पुलिस अधीक्षक शशांक आनंद ने भी प्रमिला को प्रोत्साहित किया.

प्रमिला ने शहर में गुलाबी ऑटो शुरू किया. शुरू में उनके साथ 20 महिलाएं जुड़ीं. धीरे-धीरे कारवां बढ़ता गया. डेढ़ साल पहले प्रमिला बीमार हो गईं. उन्होंने ऑटो चलाना बंद कर दिया. लेकिन, वह अब भी महिलाओं को ट्रेनिंग दे रही हैं.

रोहतक के आसपास जहां भी महिलाओं को ऑटो चलाने की ट्रेनिंग देनी होती है स्थानीय प्रशासन को लोग प्रमिला से संपर्क करते हैं. इसके बाद प्रमिला और उनकी टीम वहां जाकर ट्रेनिंग देती है. प्रमिला का दावा है कि वह अधिकतम तीन दिन में किसी को भी ऑटो चलाना सिखा सकती हैं.

साल 2019 में प्रियंका गांधी चुनाव प्रचार करने रोहतक पहुंची थीं. उस दौरान प्रियंका ने प्रमिला के ऑटो में बैठकर सफर किया था. उन्होंने काफी तारीफ भी की थी.

प्रमिला अब अपनी टीम के साथ हिसार, झज्जर, पानीपत और जींद में भी महिलाओं को ऑटो चलाने की ट्रेनिंग दे रही हैं.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!