बस 20 रुपए किलो मिलने वाली ये हरी पत्तेदार सब्जी High bp में है कारगर, जानें सेवन का तरीका और फायदे

हाई बीपी (High bp) की समस्या कैसे बढ़ती है, इसके लिए इसका आसान सा प्रोसेस समझना होगा। दरअसल, हाई बीपी की समस्या तब शुरू होती है जब शरीर में ब्लड सर्कुलेट करने में दिल पर जोर पड़ता है।

इस प्रेशर की शुरुआत आपके डैमेज ब्लड वेसेल्स से होती है। जैसे कि अगर आपके ब्लड वेसेल्स में प्लाक जो कि बैड कोलेस्ट्रॉल लिपिड्स हैं, इनका जमना खून के रास्ते को सकड़ा कर देता है।

साथ ही कई बार ये ब्लॉकेज पैदा कर देता है जिससे दिल पर प्रेशर पड़ता है और हाई बीपी की समस्या शुरू होती है। ऐसे में डाइट में पालक को शामिल करना सर्दियों में इस समस्या से बचाव (spinach good for high blood pressure ) में मदद कर सकता है। कैसे, जानते हैं।

पालक खाने के फायदे (palak benefits) कई हैं। दरअसल, इसमें एक साथ कई गुण है। जैसे फाइबर, कैल्शियम, फोलेट, पोटेशियम और मैग्नीशियम। लेकिन, जब बात हाई बीपी की आती है तो इसके तीज चीज बहुत काम आते हैं।

-पहला पोटेशियम (potassium) जो आपके पेशाब के माध्यम से आपके शरीर से सोडियम को बाहर निकालने में मदद करता है और आपकी ब्लड वेसेल्स की दीवारों को आराम देता है।

-दूसरा, ये हाई-नाइट्रेट (high-nitrate) है जो पालक जो धमनी की कठोरता को कम करता है और बीपी को आराम देता है।
-तीसरा है इसका मैग्नीशियम (magnesium) जो कि खून में शुगर को मैनेज करता है और हाई बीपी की समस्या से बचाव में मददगार है। इस तरह पालक हाई बीपी की समस्या में बहुत फायदेमंद है।

हाई बीपी में पालक के सेवन का सही तरीका-

हाई बीपी के मरीजों के लिए को रोजाना सुबह खाली पेट पालक का जूस (palak juice for high bp) पीना चाहिए। साथ ही पालक का रायता या सलाद भी खा सकते हैं। बस घी में बने पालक के साग को खाने से परहेज करें।

हाई बीपी के अलावा शरीर के लिए पालक के कई और फायदे भी हैं। जैसे कि पहले तो इसका फाइबर जो कि मेटाबोलिक रेट बढ़ाता है। दूसरा, इसका प्रोटीन जो कि बालों और शरीर की मांसपेशियों के लिए फायदेमंद है और तीसरा इसका कैल्शियम जो कि हड्डियों को स्वस्थ रखने में मददगार है। तो, इस तमाम फायदे के लिए सर्दियों में खूब खाएं पालक।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!