यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों की मदद को आगे आए सोनू सूद, ये शख़्स सच में मसीहा है

यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों की मदद को आगे आए सोनू सूद, ये शख़्स सच में मसीहा है

जहां न पहुंचे सरकार, वहां पहुंचे सोनू सूद! रील लाइफ़ विलन और रियल लाइफ़ हीरो सोनू सूद के लिए ये कथन बिल्कुल सटीक है. कोविड में सोनू सूद ने समाज के ज़्यादा से ज़्यादा लोगों की सहायता की. जिसकी मदद कोई नहीं कर रहा था उसकी मदद सोनू सूद ने की. अब सोनू सूद यूक्रेन के खारकीव में फंसे भारतीय छात्रों की मदद को आगे आए हैं.

यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों की मदद को आगे आए सोनू सूद

कई छात्रों ने वीडियो शेयर करके बताया कि सोनू सूद और उनकी संस्था ने उन्हें सुरक्षित घर वापस आने में मदद की. एक छात्र ने कहा, ‘हम कीव में फंसे थे और सूद सर और उनकी टीम ने हमें वहां से बाहर निकलने में मदद की. उनकी वजह से हम लवीव जा रहे हैं जो सुरक्षित है और वहां से हम भारत जाएंगे.’

 

View this post on Instagram

 

A post shared by ETimes (@etimes)

चारू नामक एक छात्रा ने कहा, ‘हम कीव से निकल रहे हैं. सोनू सूद सर से वक़्त पर मदद मिल गई. हम कुछ देर में लीव पहुंचेंगे और वहां से रात में बॉर्डर क्रॉस करके पोलैंड जाएंगे. मदद के लिए शुक्रिया, इन लोगों ने हमें उम्मीद दी.’

एक अन्य छात्र ने कहा, ‘मैं सोनू सद की टीम की बदौलत दिल्ली हवाई अड्डा पहुंच चुका हूं और अब मैं अहमदाबाद की फ़्लाइट का इंतज़ार कर रहा हूं. जब हम Iviv में फंसे थे तब उनकी टीम ने हमारे खाने-पीने का ध्यान रखा और मेरे अहमदाबाद तक की टिकट का किराया भी दिया.’

इस तरह सोनू सूद कर रहे हैं भारतीय छात्रों की मदद

Mid Day की रिपोर्ट के मुताबिक, सोनू सूद की टीम यूक्रेन के पड़ोसी देशों के साथ मिलकर काम कर रही है. सोनू सूद ने कहा कि छात्रों के लोकेशन्स तक लोकल टैक्सीज़ भेजी जा रही हैं. जहां से उन्हें खारकीव रेलवे स्टेशन और फिर लवीव ले जाया जा रहा है, जहां से पोलिश बॉर्डर तक की बसें चल रही हैं. सोनू सूद ने बताया कि छात्रों की फ़्लाइट टिकट का किराया भी दिया जा रहा है.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Dhara Patel

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!