बिहार CM से Private School में दाखिले की मदद मांगने वाला सोनू याद है? वो 30 बच्चों को ट्यूशन पढ़ाता है

बिहार के 11 वर्षीय सोनू कुमार इस समय सुर्ख़ियों में बने हुए हैं. उन्होंने सीएम नितीश कुमार से पढ़ने के लिए मदद की गुहार लगाई थी, जिसके बाद उनकी हर तरफ चर्चा हो रही है. सोनू की शिक्षा को लेकर जो संजीदगी है उसका आप इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि वो अपने गांव में बच्चों को पढ़ाता भी है.

बच्चों को ट्यूशन पढ़ाता है 11 साल का सोनू

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सोनू अपने हम उम्र और नीचे कक्षा वाले छात्रों को ट्यूशन पढ़ाता है. सोनू के पास तक़रीबन 30 बच्चे पढ़ने आते हैं. सोनू हर एक से 100 रुपए लेता है. उनमें जो नहीं दे सकते, उन्हें फ्री में पढ़ाता है. इस तरह वह 3000 के करीब प्रति माह कमा लेता है. जिससे उसकी आर्थिक मदद भी हो जाती है.

ट्यूशन में होने वाली आमदनी से सोनू ने एक एंड्राइड फोन भी लिया है. जिसमें वो यूट्यूब की मदद से पढ़ाई करता है. उसका मानना है कि सरकारी स्कूल के शिक्षकों को ज्यादा जानकारी नहीं है. वह इसीलिए ऑनलाइन पढ़ाई करता है. उसकी मदद से उन बच्चों को भी पढ़ाता है.

गौरतलब है कि IAS या IPS अधिकारी बनने का सपना देखने वाले सोनू कुमार की मदद के लिए बॉलीवुड अदाकारा गौहर खान ने भी हाथ बढ़ाया है. वो सोनू की पढ़ाई का पूरा खर्च उठाना चाहती हैं. उन्होंने ट्वीट कर सोनू की कांटेक्ट डिटेल मांगी है, जिससे उसकी मदद की जा सके. सोनू को मिल रही मदद से वह खुश है, लेकिन उसे वह मदद ऑफिसर बनने तक चाहिए.

सुनिए न सर, प्रणाम… प्राइवेट स्कूल में दाखिला करवा दीजिए

बता दें कि सोनू कुमार उस वक्त सुर्ख़ियों में आ गए. जब बिहार के सीएम नितीश कुमार अपनी पत्नी मंजू कुमारी सिन्हा की 16वीं पुण्यतिथि पर उन्हें पुष्पांजलि अर्पित करने नालंदा के हरनौत ब्लॉक स्थित अपने पैतृक गांव कल्याण बिगहा पहुंचे थे.

उस दौरान सीएम ने गांव का भ्रमण किया. उत्क्रमित मध्य विद्यालय कल्याण बिगहा भी पहुंचे. जहां वो लोगों की जन समस्याओं को सुन रहे थे.

भारी भीड़ के बीच एक 11 साल का बच्चा सोनू कुमार उनके सामने अचानक आकर बोला ‘सर सुनिए ना, सर प्रणाम… कृपया मेरी पढ़ाई में मेरा साथ दें. मेरे अभिभावक मेरी पढ़ाई में मेरी सहायता नहीं करना चाहते हैं. सरकारी स्कूल में अच्छी पढ़ाई नहीं होती.

टीचरों को नहीं पता कि गुणवत्तापूर्ण शिक्षा कैसे दी जाती है. मुझे एक निजी स्कूल में दाखिला दिला दीजिए. मैं पढ़ना चाहता हूं, लेकिन मेरे पिता सारे पैसे से शराब पी लेते हैं.’ सीएम नितीश कुमार ने बच्चे की शिकायत सुनने के बाद उसकी पढ़ाई के लिए आवश्यक व्यवस्था कराने का आश्वासन दिया.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok mantra से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है.]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!