Shark Tank India का वो जज जिसका कहना है, ‘पैसा बहुत कमा लिया है अब इसे अच्छी जगह लगा लेते हैं’

लेंसकार्ट के सीईओ पीयूष बंसल शार्क टैंक इंडिया पर एक पसंदीदा चेहरा बन गए. शो के अंदर खासकर उनका ऑनेस्ट फीडबैक, Entrepreneurs को प्रोत्साहित करने का तरीका, और नए लोगों में उनका विश्वास उन्हें दूसरों से अलग बनाता है. पीयूष बंसल से प्यार करने के और भी कई कारण हैं, जिनका जिक्र हम यहां करने जा रहे हैं:

1. शार्क टैंक इंडिया पर एक शार्क के रूप में, उन्होंने ऐसे लोगों की मदद की, जिनके पास पैसा नहीं था लेकिन उनके सपने बड़े थे.

जुगाड़ू कमलेश के साथ उनकी डील ने भारत को दो हीरोज़ दिए- स्वयं कमलेश (Kamlesh) और पीयूष. शार्क टैंक इंडिया के फैंस ने पीयूष बंसल में अपना नया नायक पाया क्योंकि उन्होंने कमलेश के सपने को पूरा करने के लिए अपना हाथ आगे बढ़ाया.

2. जहां सभी ने सिद्धार्थ का मजाक उड़ाया, जो खुद को ‘इनोवेटर’ कहते थे, वहीं पीयूष बंसल ने उनमें और सिद्धार्थ के बीच समानताएं बताकर उसका उत्साहवर्धन किया.

उन्होंने सिद्धार्थ के आइडिया पर इन्वेस्ट किया और वादा किया कि innovation और mentorship के लिए उनका जुनून उन्हें एक सिक्योर और exciting entrepreneurial future देगा. यही होती है एक अच्छे गुरु की पहचान!

3. प्यार में पीयूष का फंडा और अपने सपनों को पूरा करने की चाहत रखने वाले हर किसी को टिप्स बार-बार भा गए.

पीयूष बंसल का मकसद मीनिंग क्रिएट करना, और बाकी सभी लोगों के साथ सही तालमेल बिठाना है. जिन्होंने शार्क टैंक इंडिया पर उनके फैंस बनने के बाद अन्य प्लेटफार्मों पर उनको फॉलो करना शुरू कर दिया. पीयूष बंसल ने अपने लिंक्डइन अकाउंट पर एक महत्वपूर्ण नोट साझा किया कि पूरे शो ने उन्हें क्या सिखाया और entrepreneurs को अपने सपनों को साकार करने के लिए किन टिप्स का पालन करना चाहिए.

4. जब शार्क बना शिकार: पीयूष बंसल के पास टैंक पर अपने साथी शार्क के सामने पिच रखनी थी

फिनाले वीक की आखिरी पिच खास थी. ‘सबसे दयालु शार्क (kindest shark)’ के रूप में जाने जाने वाले, पीयूष बंसल ने अपनी कंपनी, लेंसकार्ट, को पैनल के अन्य शार्क – अमन गुप्ता, अनुपम मित्तल, अश्नीर ग्रोवर, ग़ज़ल अलघ और नमिता थापर प्रेजेंट किया. उनके द्वारा साझा किए गए वीडियो पर फैंस ने कमेंट्स की बाढ़ ला दी. उन्हें अपना पसंदीदा हीरो कहने से लेकर यह व्यक्त करने तक कि वे शो को कितना मिस करेंगे और विशेष रूप से उन्हें, पीयूष बंसल फैन क्लब अब काफी बड़ा हो चुका है!

5. यहां तक ​​कि जब वह शो में कुछ entrepreneurs में इन्वेस्ट नहीं कर सके तो उन्होंने आगे बढ़कर यह सुनिश्चित करने के लिए अपना नंबर साझा किया कि वह उन तक पहुंच सकते हैं.

वाट टेक्नोवेशन की पिच के दौरान, पीयूष बंसल ने लॉजिक्ल रीजनिंग दी कि वह निहाल की कंपनी में शेयर क्यों नहीं खरीद सके. हालाँकि, उन्होंने अपना नंबर साझा किया और उन्हें आश्वासन दिया कि वह मदद के लिए आगे बढ़ सकते हैं. पीयूष ने उनसे यह भी वादा किया कि जब भी निहाल कुछ बड़ा इन्वेंट करेंगे, पीयूष उनके पहले इन्वेस्टर होंगे.

6. पीयूष ने बार-बार साबित किया है कि उदारतावास्तव में बहुत आगे जाती है.

शार्क टैंक इंडिया में पीयूष का ज्यादातर इन्वेस्टमेंट सिर्फ पैसे के बारे में नहीं बल्कि सोच-समझकर किया गया था. उन्होंने purpose-driven brand गोल्ड लाइफ एंटी-सुसाइड रॉड्स में इन्वेस्ट किया. पिचर्स को अपना प्रस्ताव पेश करते हुए, पीयूष ने कहा, “पैसा तो बहुत कमा लिया है अब इसे किसी अच्छी जगह लगा लेते हैं”.

7. प्रिस्क्रिप्शन आईवियर रिटेल चेन के सीईओ ने बार-बार कहा है कि सफलता के लिए कोई “सीक्रेट सॉस” नहीं है. बंसल के अनुसार, एकमात्र तरीका है, “hustle, fail, learn और grow..”

एक नोट में, उन्होंने लिखा, “कृपया इन्हें एक चुटकी नमक के साथ लें, क्योंकि मैं अभी भी फेल हो रहा हूं, सीख रहा हूं और इसलिए हर महीने अपने आइडियाज़ को रिवाइस कर रहा हूं….सॉरी हर घंटे.”

8. एक बुद्धिमान entrepreneur होने के अलावा, उनकी कंपनी underprivileged kids को फ्री आई केयर प्रदान करती है

लेंसकार्ट फाउंडेशन ने दिल्ली के तुगलकाबाद में अपना पहला चाइल्ड आई केयर सेंटर खोला. पहले चार महीनों में ही उन्होंने 3,100 स्क्रीनिंग की. उन 3,100 लोगों में से 1,951 को vision issues थे. फाउंडेशन ने जरूरतमंदों को 1700 फ्री ग्लासेस दिए.

लगभग दो महीने के बाद, शार्क टैंक इंडिया का पहला सीज़न खत्म हो गया. फिनाले एपिसोड मजेदार था क्योंकि टैंक में सभी 7 शार्क थे – अश्नीर ग्रोवर, विनीता सिंह, नमिता थापर, अमन गुप्ता, ग़ज़ल अलघ, पीयूष बंसल और अनुपम मित्तल. पहला सीज़न सुपरहिट होने के बाद, जल्द ही दूसरे सीज़न के लिए लौटने की संभावना है.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!