इस हनुमान मंदिर से घर नहीं लाया जा सकता प्रसाद, जानिए कारण और मंदिर मे जाने के खास नियम

भगवान बजरंगबली की भक्ति समाज के लिए एक मिसाल पेश करती है। इस तरह हनुमानजी की पूजा करने से भक्तों के कई कष्ट दूर हो जाते हैं। देश में कई प्रसिद्ध हनुमान मंदिर हैं। लेकिन राजस्थान में दौसा पहाड़ी के बीच में स्थित यह मंदिर भी खास है। अपनी अलग जगह बनाता है।

मंदिर से जुड़े हैं ये रहस्य

मंदिर अपने रहस्यों और अजीब दृश्यों के कारण एक चकाचौंध गूंगे भक्त है। भगवान की कृपा से भक्त उन्हें प्रणाम करते हैं। इस मंदिर में विशेष रूप से ऊपरी बाधाओं के शिकार लोग आते हैं। हनुमानजी के पदचिन्हों पर पहुंचकर व्यक्ति पूर्ण रूप से स्वस्थ होकर घर चला जाता है।

प्रसाद घर नहीं ले जा सकते

सतही रुकावट से पीड़ित होने के कारण लोग परिवार के सदस्यों, रिश्तेदारों या दोस्तों के साथ मेहंदीपुर बालाजी मंदिर में आते हैं। आप किसी भी प्रकार के मंदिर के प्रसाद को स्वयं नहीं खा सकते हैं और न ही किसी को दे सकते हैं। यहां से प्रसाद को घर ले जाना मना है। इतना ही नहीं आप यहां से कोई भी खाना या सुगंधित चीजें घर नहीं ले जा सकते। मान्यता है कि ऐसा करने से ऊपर की आत्मा आप पर आ जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!