मात्र ₹10 में भूखे लोगों को इडली और डोसा खिलाती है यह बुजुर्ग महिला

मात्र ₹10 में भूखे लोगों को इडली और डोसा खिलाती है यह बुजुर्ग महिला

हमारे देश में आज भी परोपकार करने वालों की कमी नहीं है। देश के किसी ना किसी कोने में गरीब और भूखे लोगों के लिए मदद करने वाले और गरीबों के लिए अन्न और वस्त्र की व्यवस्था करने वाले लोगो की कहानियां अक्सर हमें सुनाई देती है। ऐसी ही एक नागपुर की बुजुर्ग महिला है जो भूखे लोगों के लिए बहुत ही कम दाम में इडली और दोसा बनाकर उन्हें खिलाती है।

नागपुर की रहने वाली 62 वर्षीय शारदा जी बहुत ही सामान्य परिवार से आती है। उन्होंने स्वयं के जीवन में काफी मुश्किलों को झेला है और भूखे पेट कई दिन निकाले। इसलिए उन्हें इस बात का बहुत अच्छे से एहसास है कि भूख से जूझ रहे व्यक्ति के लिए समय काटना कितना मुश्किल होता है। बुजुर्ग महिला ने बताया कि उनके ऊपर ऐसे ही दिन आए थे कि उन्हें एक दिन की रोटी मिल पाना भी असंभव था।

ऐसी मुश्किल हालातों में से जब यह महिला उभरकर सामने आई। तब उन्होंने उनकी स्वयं की परिस्थिति को महसूस करते हुए लोगों के लिए कम से कम दाम में अच्छे से अच्छा खाना उपलब्ध करवाने की ठान ली। साल 2004 में इस महिला ने नागपुर के एक चौराहे पर अपनी इडली और डोसा की दुकान खोली। उस समय वह इडली डोसा केवल ₹2 में देती थी। परंतु समय बीतता चला गया और महंगाई भी काफी बढ़ गई जिसके कारण अब बुजुर्ग महिला ने इडली और डोसा ₹10 में बेचना शुरू कर दिया।

परंतु आज के समय के हिसाब से यदि देखा जाए तो ₹10 बहुत ही कम दाम है। महिला ने बताया कि वह हर महीने ₹10 हजार इस बिजनेस से कमा लेती है। उन ₹10 हजार में से ही वह सब्जी और अन्य सामग्री खरीद लाती है। महिला के बेटे की अब शादी हो चुकी है और महिला अपने परिवार के साथ सुखी संपन्न जीवन बिता रही है। आज के समय में यह बुजुर्ग महिला ने परोपकार की ऐसी मिसाल पेश की है जिसे देखकर शायद और भी लोग जरूरतमंद लोगों की मदद करने के लिए प्रेरित होंगे।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!