T20 फॉर्मेट में क्या खत्म हो गया रोहित शर्मा और विराट कोहली का करियर? सुनील गावस्कर ने कही यह बात

क्या टी20 फॉर्मेट में कप्तान रोहित शर्मा और स्टार बल्लेबाज विराट कोहली का करियर खत्म हो गया है. इन दोनों ही स्टार खिलाड़ियों को टी20 वर्ल्ड कप के बाद से इस फॉर्मेट में भारतीय टीम में जगह नहीं मिल रही है. चयनकर्ता इस फॉर्मेट में लगातार हार्दिक पांड्या की कप्तानी में युवा खिलाड़ियों को मौका दे रहे हैं.

लेकिन फैन्स इस बात को लेकर चिंतित हैं कि बीसीसीआई या सिलेक्टरों की ओर से इन दोनों के भविष्य पर कुछ कहा भी नहीं गया है और इन्हें लगातार इस फॉर्मेट से बाहर भी रखा जा रहा है. पूर्व टेस्ट बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने दोनों खिलाड़ियों के करियर पर अपनी राय दी है.

गावस्कर ने कहा कि फिलहाल चयनकर्ता अगले टी20 वर्ल्ड कप से पहले युवाओं को ज्यादा से ज्यादा मौका देना चाहते हैं. इसलिए कोहली और रोहित को इस फॉर्मेट से दूर रख रहे हैं, ताकि वह वनडे और टेस्ट क्रिकेट के लिए खुद को तरोताजा रख सकें.

भारत ने ऑस्ट्रेलिया में बीते साल आयोजित हुए टी20 वर्ल्ड कप के बाद अब तक दो टी20 सीरीज खेली हैं. उसने पहले न्यूजीलैंड का दौरा किया था. इसके बाद हाल ही में श्रीलंका के खिलाफ अपने घर में टी20 सीरीज खेली, जबकि अब वह इस महीने के अंत में न्यूजीलैंड से भी टी20 सीरीज खेलेगा.

लेकिन इन तीनों ही सीरीज में रोहित और विराट को बाहर रखा गया है. चयनकर्ताओं ने यह भी साफ नहीं किया है कि इन खिलाड़ियों को क्या टीम से बाहर कर दिया गया है या फिर आराम दिया जा रहा है, जबकि ये दोनों स्टार वनडे फॉर्मेट में खेल रहे हैं.

इस मुद्दे पर जब गावस्कर से उनकी राय मांगी गई तो उन्होंने कहा कि भारतीय चयनकर्ता ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज के लिए इन दोनों खिलाड़ियों को तरोताजा रखना चाहते हैं.

इसलिए वे इन दोनों को क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में आराम दे रहे हैं. भारत को ऑस्ट्रेलिया से 9 फरवरी से 4 टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है. सुनील गावस्कर इंडिया टुडे से बात कर रहे थे.

उन्होंने कहा, ‘जैसा मैं देख रहा हूं तो यह बस यही है, अगला वर्ल्ड कप 2024 में है और जो नई सिलेक्शन कमिटी आई है वह तब तक युवाओं को भरपूर मौका देना चाहती है. इसका यह मतलब कतई नहीं है कि कोहली और रोहित को इस फॉर्मेट में अब मौका नहीं मिलेगा.’

73 वर्षीय गावस्कर ने आगे कहा, ‘अगर वह 2023 में पूरे साल फॉर्म में रहते हैं तो उन्हें टीम में चुनना ही होगा. इसका दूसरा कारण ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज भी है. शायद सिलेक्टर्स उन्हें इस बड़ी सीरीज के लिए आराम दे रहे होंगे, ताकि वे कंगारुओं के खिलाफ तरोताजा शुरुआत कर सकें, जिससे भारतीय टीम को ही फायदा होगा.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!