रेलवे ने लांच किया विस्टाडोम कोच: शीशे की छत, 180 डिग्री घूमने वाली सीट के साथ दिखेंगे शानदार नजारे

यात्रा के दौरान अगर आपको प्राकृतिक सौंदर्य की अच्छी-खासी झलक देखने को मिल जाए तो आपकी यात्रा वाकई खास हो जाती है।

भारतीय रेलवे भारत के यातायात की लाइफ लाइन मानी जाती है। प्रतिदिन लाखों लोग रेलवे से यात्रा कर अपने गंतव्य को पहुंचते हैं। आधुनिक होते इस समय में भारतीय रेलवे ने भी अपनी आधुनिकीकरण का खूब ध्यान रखा है। कई तरह की स्पेशल और सुविधाओं वाली ट्रेनें शुरू की गई हैं। उसी संदर्भ में हम आपको भारतीय रेलवे द्वारा हाल में ही लांच की गई विस्टाडोम कोच सेवा के बारे में बताने जा रहे हैं। आखिर विस्टाडोम कोच लोगों को क्यों रास आ रहा है और इसमें कौन सी खासियतें हैं..? आईए जानते हैं…

भारतीय रेलवे ने मुंबई-पुणे डेक्कन एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन में विस्टाडोम कोच सेवा की शुरुआत की है। इस कोच में कई तरह के आधुनिक सुविधाएं हैं और साथ में कोच के खिड़कियों से आप प्रकृति का शानदार नजारा देख सकते हैं। पूर्ण रूप से वातानुकूलित कोच की छत में शीशे लगे हैं। इसकी खिड़कियां अपेक्षाकृत काफी चौड़ी है जिससे जब आप मुंबई से पुणे के लिए यात्रा शुरू करेंगे तो बीच में आने वाले झरने, पेड़-पौधे, पहाड़ इत्यादि जैसे प्राकृतिक सौंदर्य का नजारा ले सकेंगे जो आपको एक विशेष अनुभूति देगा। इस कोच की सीटें 180 डिग्री तक घूम सकती हैं जिससे आप अपना मुंह खिङकी तरफ कर सकते हैं और नजारों का अच्छे से आनन्द ले सकते हैं।

44 सीटों वाला इस कोच की बनावट बेहद हीं आकर्षक है। शीशे की छत वाले इस कोच की आरामदायक सीट पर बैठकर प्राकृतिक सौंदर्य का नजारा लेते हुए यात्रा करना आपके सफर को बेहद हीं खास बना देगा।

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अपने ट्विटर हैंडल पर नए कोच की कई तस्वीरों और वीडियो को साझा करते हुए लिखा, ‘पश्चिमी घाट का एक मनोरम दृश्य: पुणे-मुंबई डेक्कन एक्सप्रेस में पहली बार विस्टाडोम कोच की चौड़ी खिड़की के साथ शीशे और कांच की छतें यात्रियों को एक निर्बाध, अद्वितीय और अविस्मरणीय यात्रा अनुभव प्रदान करती हैं। आइए, पश्चिमी घाट का ऐसा अनुभव प्राप्त करें, जैसा पहले कभी नहीं किया गया था।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!