आप भी मूली के पत्ते फेंक देते हैं? इसके फायदे जान नहीं करेंगे ऐसा

मूली से ज्यादा फायदेमंद मूली के पत्ते होते हैं. इसे सब्जी या साग बनाकर खा सकते हैं. कोरिया और चीन में इसे सब्जी के रूप में खाया जाता है.मूली सब्जियों के ब्रैसिसेकी परिवार का एक सदस्य है. मूली का साग काफी पौष्टिक होता है.

मूली पत्ते के फायदे

मूली के साग में कैलोरी कम होती है लेकिन प्रोटीन, आयरन और पोटेशियम, मैग्नीशियम, विटामिन सी और विटामिन के भरपूर मात्रा में होता है.

मूली-के पत्ते फेंके नहीं

मूली के पत्ते में एरुकेमाइड पाया जाता है.इसके अर्क से याददाश्त ठीक रहती है. इसलिए, यह साग अल्जाइमर रोग वाले लोगों में स्मृति हानि से बचाव करने की क्षमता रखता है.

मूली-से ज्यादा फायदेमंद है पत्ता

मूली से ज्यादा मूली के पत्ते फायदेमंद होते हैं. मूली के पत्ते के अर्क में एंटीऑक्सिडेंट के गुण पाए जाते हैं जो फेफड़ों के ऊतकों को ऑक्सीडेटिव तनाव से होने वाले नुकसान से बचाते हैं. टेस्टट्यूब अनुसंधान में मूली के हरे एंटीऑक्सिडेंट के अर्क ने इसकी काफी संभावनाएं दिखाईं हैं.

मूली-के पत्ते की बना लें भुर्जी

मूली के पत्ते को काटकर आप साग के रूप में बना सकते हैं या सब्जी में मिला सकते हैं, इसकी पकौड़ियां बना सकते हैं या आधी पत्ती और आधी मूली डालकर इसकी आप भुर्जी भी बनाकर खा सकते हैं.

मूली-के पत्ते का साग

मूली का साग अन्य पत्तेदार सब्जियों के समान तरीके से तैयार किया जाता है और मूली के साग को बारीक काटकर इसे गार्निश के रूप में या सलाद में डालकर भी खाया जा सकता है.

मूली-के पत्ते का जूस

मूली के पत्ते का जूस बनाकर भी इसे पी सकते हैं. ये काफी फायदेमंद होता है. इसका स्वाद थोड़ा कड़वा लग सकता है तो आप इसमें नमक काली मिर्च और नींबू डालकर पी सकते हैं.

मूली-के पत्ते जरूर खाएं

मूली का साग स्वाद में थोड़ा कड़वा होता है तो इसमें आप थोड़ा मसाला डालकर पका सकते हैं जिससे इसकी कड़वाहट दूर हो जाए. आप इसका सूप बनाकर भी पी सकते हैं.

लाल-मूली के फायदे

मूली सामान्यतः सफेद होती है, लेकिन ये लाल रंग की भी होती है. दोनों के स्वाद में कोई खास फर्क नहीं होता बस रंग का फर्क होता है. लाल मूली में भी वही गुण और वही पौष्टिकता होती है जो सफेद मूली में होती है.

मूली-के पत्ते को लेकर बरतें ये सावधानी

मूली के पत्ते को कच्चा खाने से पहले इसे अच्छी तरह से धो लें, इसपर कीड़े हो सकते हैं. अच्छी तरह से धोकर इसे पकाएं. मूली को भी अच्छी तरह से धोकर ही खाएं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!