फ्री खाने की प्लेट के लिए आपस में लड़ पड़े पंजाब के शिक्षक-प्रिंसिपल, वायरल हुआ वीडियो!

बच्चों को जीवन में संस्कृति, सभ्यता, अनुशासन और सब्जेक्ट सिखाने वाले टीचर और टीचरों के काम का कायदा तय करने वाले प्रिंसिपल, जब खुद बेकायदा हो जाए… तो नजारा कुछ इस वायरल वीडियो की तरह नजर आता है।

जो सोशल मीडिया पर जमकर कोहराम मचाये हुए है। जिसमे आप देख सकते है कि कैसे मुफ़्त के खाने-पीने की चीज़ों को लेकर टीचर आपस में गुत्थम-गुत्था कर बैठे। खैर क्या है इस वायरल वीडियो की पूरी पठकथा? आइये हम आपको बताते है।

2600 स्कूल के हेड पहुंचे थे मीटिंग में

आपको बता दें कि पंजाब सरकार ने शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिए लुधियाना के एक आलीशान रिजॉर्ट में मुख्यमंत्री भगवंत मान की अध्यक्षता में शिक्षकों की एक बैठक का आयोजन किया था।

तारीख थी 10 मई, और इस दौरान भगवंत मान से मिलने के लिए 2600 विद्यालयों के प्रमुख या प्रतिनिधि पहुंचे थे। मीटिंग का एजेंडा था राज्य में शिक्षा के स्तर को सुधारने पर बातचीत करना।

पंजाब सरकार के शिक्षा मंत्री गुरमीत सिंह मीत हेयर ने कहा कि शिक्षकों के लाने ले जाने के लिए विभाग ने 57 एसी बसों की भी व्यवस्था की थी। उनके मुताबिक, इस बैठक का आयोजन नीति बनाकर शिक्षा व्यवस्था में सुधार के लिए शिक्षकों के सुझावों को सुनने के लिए बुलाई गई थी।

खबरों के मुताबिक शिक्षा पर ये चर्चा लुधियाना के पास एक आलीशान होटल में हुई।

खैर, मीटिंग खत्म हुई। मीटिंग के बाद लंच था, टीचर और प्रिंसिपल खाने की मेज पर पहुंचे। अब संख्या ज्यादा थी और खाना फ्री। फिर जो हुआ वो तो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। आप नीचे उस वायरल वीडियो पर पहले एक नजर डाल लीजिये, और क्या हुआ था वो आप खुद ही देख लीजिए।

मुफ्त खाने के लिए आपस में भिड़ गए शिक्षक!

तो आपने देखा कि कैसे, बच्चो को नीति-ज्ञान का पाठ पढ़ाने बाले शिक्षक खुद नीतियां और कायदा भूल गुत्थम-गुत्था पर उतारू हो गए। वायरल वीडियो में साफ़ देखा जा सकता है कि कोहनी-कोहनी ठेल के छीना झपटी हो रही थी,

प्लेट लेने में ऐसे मारामारी हुई जैसे दोस्त के बड्डे पर फ्री बाला केक खाने को दोस्त आपस में भिड़ जाते हो। खैर बो बड्डे होता है तो साथ में उसके दोस्त। लेकिन ये टीचर है।

जो शिक्षक पंजाब के बच्चों का भविष्य सुधारने के लिए शिक्षा की गुणवत्ता पर चर्चा करने गए थे उनसे थोड़ी तो तमीज़ और तहज़ीब की अपेक्षा की जा सकती है। हालांकि ऐसा हुआ नहीं। और नतीजा वायरल वीडियो के तौर पर आज सबके सामने है। लोग इस वायरल वीडियो में टीचर की जमकर खिल्ली उड़ा रहे है। और ज्ञान देने बाले शिक्षको को ज्ञान वांच रहे है।

देखिये, वीडियो पर इंटरनेट सेना की प्रतिक्रिया-

टीचर्स का ऐसा रवैया देख लोगों ने उनकी जमकर आलोचना भी की और मजे भी लिए। एक ट्विटर अकाउंट से लिखा गया, “शुरुआत हो भी गई। भूखे लोगों ने खाने के लिए लड़ना शुरू कर दिया। कल्पना से भी बदतर।” साथ में एक अन्य यूजर ने लिखा, “इन लोगों को सच में हार्वर्ड लेवल की एजुकेशन की जरूरत है।”

एक व्यक्ति ने ट्विटर पर लिखा, ”सबको मुर्गा बनाओ।” किसी ने कमेंट किया, ”मुझे ये जानना है कि इन लोगों को खाना किस समय दिया गया क्योंकि ये सभी लोग भूखे लग रहे हैं।” एक ने ट्वीट किया, “इन्हें शिक्षण प्रशिक्षण के लिए विदेश भेजने के बजाय, सरकार पहले उन्हें व्यक्ति्व कौशन की कक्षांए दें।”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “ये देश का एजुकेशन सिस्टम है। क्या बच्चों को सिखाएंगो जो खुद समझदार नहीं, बस जहां फ्री (मिले) वहीं लूट मारो।”

खैर जो हुआ सो हुआ, लेकिन वायरल वीडियो के बाद पंजाब के शिक्षा विभाग की जमकर आलोचना हो रही है। खाने की प्लेट के लिए लड़ते टीचर्स का ये वीडियो सोशल मीडिया पर कई सारे सवालिया निशान खड़े कर रहा है। जैसा कि आपने यूजर्स की प्रतिक्रिया में एक झलक देख ही ली होगी।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok mantra से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है.]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!