मामूली सीवेज पाइप से बनाया दुनिया का सबसे सस्ता घर, अब तक मिल चुके हैं 200 नए घर बनाने के आर्डर

पूरी दुनिया में आबादी के लिहाज से चीन के बाद भारत दूसरा सबसे बड़ा देश है, जहाँ अमीर वर्ग से लेकर गरीब वर्ग के लोग निवास करते हैं। भले ही आज भारत शिक्षा, रोजगार और टेक्नोलॉजी समेत कई मामलों तेजी से आगे बढ़ रहा हो, लेकिन अब भी इस देश की 6 करोड़ आबादी के सिर पर घर की छत नहीं है।

ऐसे में देश की आबादी का एक बड़ा हिस्सा अस्थायी रूप से सड़कों के किनारे, फ्लाईओवर के नीचे या फिर झुग्गी झोपड़ियों में अपना जीवन बसर करता है, क्योंकि उनके पास स्थायी और पक्का मकान बनाने के पर्याप्त धन नहीं है।

ऐसे में तेलंगाना की रहने वाली पेराला मानसा रेड्डी ने एक ऐसा उपाय खोज निकाला है, जिसके जरिए गरीब और बेसाहार लोगों को घर नसीब हो सकता है। इतना ही नहीं यह घर ठंडी और गर्मी समेत हर मौसम के लिए बिल्कुल पर्याप्त है, जो ईंट के बजाय सीवर के पाइप में बनाया जाता है।

सीवर के पाइप में मजबूत घर की नींव

यह बात सुनने में अजीब जरूर लगती है कि सीवर के पाइप के घर में नींव रखी जा सकती है, लेकिन तेलंगाना के बोम्मकल गाँव से ताल्लुक रखने वाली पेराला मानसा रेड्डी ने इस नामुमकिन काम को मुमकिन कर दिखाया है।

23 वर्षीय मानसा ने पंजाब की लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी (LPU) से सिविल इंजीनियरिंग में डिग्री हासिल की है, वह अपनी पढ़ाई के दौरान घर के बनाने के आसान तरीके ढूँढती रहती थी। इस तरह मानसा ने हांगकांग की James Law Cybertecture नामक कंपनी से OPod Tube House बनाने का तरीका सीखा।

इसके बाद मानसा रेड्डी ने उस आइडिया के तहत एक सस्ता और टिकाऊ OPod Tube House बनाया, जिसके लिए उन्होंने सीवर पाइप का इस्तेमाल किया था। मानसा ने उन पाइपों को तेलंगाना की एक मैन्युफैक्चरिंग कंपनी से मंगवाया था।

उस कंपनी ने मानसा को छोटे बड़े आकार के सीवर पाइप मुहैया करवाए, जिनका इस्तेमाल जरूरत के हिसाब से घर बनाने के लिए किया जा सकता है। सीवर पाइप से बने इस गोलाकार घर में एक साथ तीन लोगों का परिवार आसानी से रह सकता है।

इतना ही नहीं इस OPod Tube House हाउस को अपनी जरूरत के हिसाब से 1BHK, 2BHK और 3BHK में तब्दील किया जा सकता है, जिसकी वजह इसमें 3 मेंबर्स से ज्यादा लोगों का परिवार भी आराम से रह सकता है। इस तरह के घरों को तैयार करने में महज 15 से 20 दिनों का समय लगता है।

शुरू किया Samnavi Construction का बिजनेस

मानसा रेड्डी द्वारा तैयार किए गए इन सीवर पाइप वाले OPod Tube House को बहुत ज्यादा पसंद किया जा रहा है, जबकि सोशल मीडिया पर भी उन्हें काफी सराहना मिल रही है। इन सभी चीजों को देखते हुए मानसा ने अपना स्टार्टअप भी शुरू किया है, जिसके तहत उन्होंने अपनी कंपनी का नाम Samnavi Constructions रखा है।

इस स्टार्टअप के जरिए मानसा रेड्डी कम लागत में जरूरतमंद लोगों को मजबूत और टिकाऊ घर उपलब्ध करवाना चाहती हैं, ताकि उन्हें बदलते मौसम के साथ अस्थायी ठिकानों पर न करना पड़े और भारत की 6 करोड़ आबादी के सिर पर अपने घर की छत हो।

खत्म करना चाहती है अस्थायी घरों की समस्या

मानसा रेड्डी का जन्म तेलंगाना के बहुत छोटे से गाँव बोम्मकल में हुआ था, ऐसे में अपनी स्कूल और कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के लिए मानसा को गाँव से बाहर जाना पड़ता था। इस दौरान मानसा ने तेलंगाना के गरीब और झुग्गी झोपड़ी वाले इलाकों में स्वयंसेविका के रूप में काम किया था, इस दौरान उन्हें एहसास हुआ कि लोगों के पास रहने के लिए मजबूत घर भी नहीं है।

अस्थायी घरों की इसी समस्या को दूर करने के लिए मानसा ने सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की थी, ताकि वह जरूरतमंद लोगों को कम दामों में अच्छे घर मुहैया करवा सके। मानसा बताती है कि अपनी पढ़ाई के दौरान उन्होंने लोगों को स्टील की शीट, प्लास्टिक के कवर और बांस से बने अस्थायी घरों में रहते हुए देखा है, जिसमें प्रवासी मजदूरों के परिवारों की संख्या सबसे ज्यादा होती है।

झुग्गी झोपड़ियों में रहने वाले लोग गर्मी के मौसम में उन घरों को खाली कर देते हैं, क्योंकि वहाँ गर्मी से बचने का कोई साधन नहीं है। ऐसे में यह लोग सड़कों के किनारे और फ्लाईओवर के नीचे रहने पर मजबूर हो जाते हैं, जहाँ से गुजरने वाली गाड़ियों से उनके शरीर पर हवा लगती रहती है।

वहीं बरसात के मौसम में निचले इलाकों में पानी भर जाता है और बीमारी फैलाने वाले मच्छर व कीड़ों मकौड़ों की संख्या बढ़ जाती है, जिसकी वजह से उन इलाकों में बने अस्थायी घरों में रहना नामुमकिन हो जाता है। ऐसे में इन जगहों पर रहने वाले लोगों को साल भर अपना घर बदलते रहना पड़ता है।

मानसा ने कई मजूदरों को सड़क किनारे मौजूद सीवर के पाइपों के अंदर रहते हुए देखा था, लिहाजा उन्होंने इसी आइडिया के तहत OPod Tube House बनाने का प्लान बनाया था। जिसमें जरूरत के हिसाब से बेसिक सुविधाएँ मौजूद होती हैं और यह हर मौसम में टिकाऊ साबित होते हैं।

लॉकडाउन के बाद शुरू किया था कारोबार

मानसा रेड्डी ने पिछले साल 2020 में सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की थी, इसके बाद जैसे ही साल के अंत में लॉकडाउन हटाया गया मानसा ने अपना बिजनेस शुरू कर दिया। उन्होंने तेलंगाना में मौजूद सीवेज पाइप मैन्युफैक्चर्र से संपर्क किया और अपनी जरूरत के हिसाब से पाइप मंगवा लिये।

हालांकि इस प्रोजेक्ट को पूरा करने में एक कंपनी ने भी मानसा का मदद की थी, जिसकी वजह से उन्हें सीवेज पाइपों को आपस में जोड़ने और एक बड़े आकार का घर बनाने में सहायता मिली। सीवेज पाइप भले ही आकार में गोल होते हैं, लेकिन उनकी ऊंचाई इतनी होती है कि एक लंबा आदमी उसमें आसानी से खड़ा हो सकता है।

मानसा रेड्डी ने OPod Tube House को गर्मी की मार से बचाने के लिए उसे सफेद रंग से पेंट किया है, ताकि बढ़ते तापमान में भी घर अंदर से ठंडा रह सके। इसके साथ ही सीवेज हाउस में दरवाजे, खिड़की, बाथरूम, कीचन, पाइप लाइन और बिजली की सुविधा भी मौजूद है।

मानसा ने OPod Tube House प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए अपनी माँ से 5 लाख रुपए उधार लिए थे, लेकिन अब उनका काम लोगों को इतना पसंद आ चुका है कि वह जल्द ही अपनी माँ से लिया हुआ उधार चुका देंगी।

मानसा रेड्डी ने अपने रिश्तेदार से जमीन लेकर 2 मार्च 2021 में पहला OPod Tube House बनानाशुरू किया था, जिसे उन्होंने 28 मार्च तक बनाकर तैयार कर दिया था। इस 1 BHK हाउश को मानसा ने अपनी पसंद के हिसाब से सजाया है, जो दिखने में बहुत ही खूबसूरत लगता है।

इस घर की लंबाई 16 फुट है, जबकि ऊंचाई 7 फुट है। इस घर में एक छोटा-सा लिविंग रूप, एक बेडरूम, बाथरूम और कीचन अटैच है, जो एक छोटे से परिवार के रहने के लिए काफी अच्छा है।

कंपनी को मिले 200 घर बनाने के आर्डर

पेराला मानसा रेड्डी (Perala Manasa Reddy) द्वारा बनाए गए OPod Tube House की तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही हैं, जिसकी वजह से उनकी कंपनी को 200 नए घर बनाने का आर्डर भी मिल चुका है। फिलहाल इस घर की टेस्टिंग के लिए मानसा ने एक प्रवासी मजदूर को वहाँ 7 दिन बिताने के लिए कहा है, ताकि किसी तरह की कमी होने पर घर के डिजाइन में सुधार किया जा सके।

Samnavi Constructions को अब तक केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और ओडिशा सहित देश के अलग-अलग राज्यों से OPod Tube House बनाने का आर्डर मिल चुका है। ऐसे में मानसा रेड्डी अपने एक साथी छात्र के साथ मिलकर इस काम को आगे बढ़ा रही हैं, ताकि भविष्य में सभी जरूरतमंद लोगों को घर मिल सके।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!