अनाथ बच्चा बना जिला टॉपर, दादा-दादी ने चाय बेचकर पढ़ाया, माता-पिता को याद कर रो पड़ा उज्जवल!

यूपी शिक्षा बोर्ड का दसवीं और बारहवीं का रिजल्ट घोषित हो चुका है. कई छात्रों ने प्रदेश से जिला टॉप कर अपने परिवार का मान बढ़ाया है. इस बीच एक अनाथ बच्चे ने यूपी के हमीरपुर जिले में टॉप कर मिसाल कायम की है.

दरअसल, हमीरपुर जिले में रहने वाले उज्जवल गुप्ता ने हाईस्कूल की परीक्षा में जिला टॉप किया है. वे एस वी इंटर कॉलेज के छात्र हैं. उज्जवल के माता-पिता की मृत्यु हो चुकी है. उज्जवल के पिता रामचंद्र गुप्ता को कैंसर की बीमारी थी और इसके चलते साल 2010 में उनकी मौत हो गई.

आगे साल 2013 में मा रामा ने भी इस दुनिया को अलविदा कह दिया. उज्जवल अनाथ हो गए. उनके बाबा और दाई ने उन्हें पाला है. उज्जवल की एक छोटी बहन भी है. उनके दादा और दादी ने दोनों की परवरिश की. घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी.

चाय बेचकर बच्चों को पढ़ाया. आज उज्जवल ने जिला टॉप करके उनका नाम रौशन कर दिया. उज्ज्वल बीटेक कर इंजीनियर बनने का सपना देखते हैं. उज्जवल चाहते हैं कि पढ़ लिख कर अपने दिवंगत माता-पिता का नाम रोशन करें.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, उज्जवल टॉप करने के बाद अपने माता-पिता को याद करते हुए रो पड़ते हैं. वे कहते हैं कि आज मुझे मम्मी-पापा की बहुत याद आ रही है. उनका कहना है कि अगर वे जिंदा होते तो आज बहुत खुश होते.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok mantra से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है.]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!