एक पैर कट गया मगर हौसला नहीं टूटा, हर रोज एक पैर से 40 Km साइकिल चलाते हैं, IAS भी हुए मुरीद

एक पैर कट गया मगर हौसला नहीं टूटा, हर रोज एक पैर से 40 Km साइकिल चलाते हैं, IAS भी हुए मुरीद

एक दिव्यांग व्यक्ति की अक्षमता उसे अंदर से तोड़ देती है. ऐसे अधिकतर लोगों पर निराश इस तरह से हावी हो जाती है कि वे बेहतर की कोशिश करना ही छोड़ देते हैं. ऐसे लोगों को नरेश से प्रेरणा लेनी चाहिए. इस समय सोशल मीडिया पर लोग नरेश के हौसले और जज्बे को सलाम कर रहे हैं.

दरअसल नरेश नामक व्यक्ति का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. वीडियो में उनके द्वारा दिखाया गया जज्बा हम सबको कभी ना हार मानने की सीख देता है. इस वीडियो को IAS अवनीश शरण ने अपने ट्विटर पर साझा किया है. अपने ट्वीट के कैप्शन में उन्होंने नरेश की तारीफ करते हुए लिखा ‘नेवर गिव अप (कभी हार मत मानो).’

इस वीडियो क्लिप में आप देख सकते हैं कि दिव्यांग नरेश एक पैर से साइकिल चला रहे हैं. उन्होंने अपने हाथ में एक लाठी पड़की है जिसकी मदद से वह पैडल मारते हैं. ये उनका रोज का काम है. ऐसे ही किसी एक दिन जब वह सड़क पर साइकिल चलाते जा रहे थे तब एक बाइक सवार ने उनका वीडियो शूट कर लिया. इस वीडियो में बाइक सवार नरेश से उनका नाम और गांव के बारे में पूछता है. नरेश ने बताया कि वो अलीगढ़ के अतरौली क्षेत्र के लोधा नगला के रहने वाले हैं और हर रोज लगभग 40 किलोमीटर साइकिल चला कर अपने काम पर जाते हैं.

इस वीडियो को अभी तक 58 हजार से ज्यादा व्यूज़ और लगभग 8 हजार लाइक्स मिल चुके हैं. इसके साथ ही बहुत से यूजर्स ने अपनी प्रक्रिया देते हुए नरेश की जम कर तारीफ की है.

उत्तर प्रदेश, अलीगढ़ के नरेश दिव्यांग हैं. ऐसी स्थिति में वो ठीक से चल भी नहीं पाते लेकिन इसके बावजूद उन्होंने कभी हार नहीं मानी. नरेश अपने परिवार का पेट पालने के लिए एक पैर से ही हर रोज़ 40 किलोमीटर साइकिल चलाकर एक हार्डवेयर फैक्ट्री में करने जाते हैं. बता दें कि नरेश 2010 में एक रेल दुर्घटना का शिकार हो गए थे. इस दुर्घटना में उन्होंने अपना एक पैर तो खो दिया लेकिन ये हादसा उनके अंदर की हिम्मत को नहीं तोड़ पाया.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Dhara Patel

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!