इस भैंस को कहा जाता है काला सोना, इसे पालकर कर सकते हैं लाखों की कमाई

इन दिनों भारत में हर कोई बिजनेस स्टार्टअप पर काम रहा है, ताकि कम समय में ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमाया जा सके। इस स्टार्टअप में आधुनिक तकनीक के जरिए खेती करने से लेकर पशु पालन शामिल हैं, जिसमें युवा भी बढ़चढ़ कर दिलचस्पी दिखा रहे हैं।

ऐसे में अगर आप भी नौकरी के बजाय अपना बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, तो आपके लिए पशु पालन एक बेहतरीन विकल्प साबित हो सकता है। भारत में डेयरी फार्म का बिजनेस तेजी से फल फूल रहा है, जिसके लिए आपको खास नस्ल की भैंस पालनी होगी।

कई लीटर दूध देती है इस नस्ल की भैंस

अगर आप डेयरी फार्मिंग के जरिए भैंस पालन करते हैं, तो इस बिजनेस से आप कुछ ही महीनों में लखपति बन जाएंगे। दरअसल भारत में कई नस्ल की भैंसे पाई जाती हैं, जो अत्यधिक मात्रा में दूध देती हैं और इसी दूध को बेचकर आप अपना बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

भारत में सबसे अधिक दूध देने का रिकॉर्ड मुर्रा नस्ल की भैंस के पास है, जो एक दिन में कम से कम 20 से 25 लीटर दूध आसानी से देती है। वहीं इस नस्ल की कुछ भैंसे एक दिन में 30 से 35 लीटर दूध देने की क्षमता रखती हैं, जिसकी वजह से मुर्रा भैंस की कीमत काफी ज्यादा है।

मुर्रा नस्ल की भैंस को भारत के हरियाणा और पंजाब जैसे राज्यों में सबसे ज्यादा पाला जाता है, जहाँ दूध की मांग काफी ज्यादा रहती है। वहीं भारत के अलावा इटली, बुल्गारिया और मिस्र जैसे देशों में भी मुर्रा नस्ल की भैंस को डेयर फार्म में पाला जाता है, जो इन देशों के डेयरी प्रोडक्शन में अहम भूमिका निभाती है।

मुर्रा भैंस की पहचान

भैंस की अन्य नस्लों की तरह की मुर्रा भैंस का शारीरिक रंग गहरा काला होता है, जबकि इसकी पूंछ अन्य भैंसों के मुकाबले काफी लंबी होती है। मुर्रा भैंस के सिर और आंखों का साइज दूसरी भैंसों के मुकाबले थोड़ा छोटा होता है, जबकि इस भैंस के सींग छल्ले की आकृति में अधिक घुमावदार होते हैं।

मुर्रा भैंस का साइंटिफिक नाम बुबालस बुबालिस है, जिसकी शारीरिक ऊंचाई 4.7 फीट होती है और इसका वजन 650 से 700 किलोग्राम के आसपास हो सकता है। इस नस्ल की भैंस के दूध में फैट की मात्रा ज्यादा पाई जाती है, जिसकी औसत आयु लगभग 26 साल तक होती है।

आपको बता दें कि मुर्रा भैंस अपने पहले बच्चे को जन्म देने में लगभग 6 साल का समय लेती है, जबकि इसके पहले और दूसरे बच्चे के बीच लगभग 2 से 3 साल का गैप होता है। डेयरी फार्म का बिजनेस करने वाले किसान अधिक कमाई और दूध प्राप्त करने के लिए मुर्रा नस्ल की भैंस को पालना पसंद करते हैं।

मुर्रा भैंस की बाज़ार में शुरुआती कीमत 80 हजार से 1 लाख रुपए से बीच होती है। वहीं इस नस्ल की अच्छी भैंसों को खरीदने के लिए आपको 5 से 7 लाख रुपए भी खर्च करने पड़ सकते हैं, जबकि इस भैंस के जरिए लागत के मुकाबले कई गुना मुनाफा कमाया जा सकता है।

मुर्रा भैंस को पालकर शुरू करें बिजनेस

ऐसे में अगर आप भी डेयरी फार्मिंग में रूचि रखते हैं, तो किसी जानकर व्यक्ति की मदद लेकर एक अच्छी मुर्रा भैंस को खरीद लिजिए। अगर आप प्रतिदिन 20 से 25 लीटर दूध प्राप्त करना चाहते हैं, तो एक आपको सामान्य मुर्रा भैंस 1 से 2 लाख रुपए की कीमत में मिल जाएगी।

इसके बाद आप इस भैंस के जरिए डेयरी फार्मिंग शुरू कर सकते हैं, जिससे प्राप्त होने वाला दूध काफी गाढ़ा, वसा से भरपूर और स्वादिष्ट होता है। मुर्रा भैंस के दूध की बाज़ार में कीमत लगभग 70 से 80 रुपए प्रति लीटर के आसपास होती है, जिससे आप हर दिन 20 लीटर दूध बेचकर 1, 400 से 1, 500 रुपए कमा सकते हैं।

इस तरह महज एक मुर्रा भैंस का दूध बेचकर आप महीने के 45 से 50 हजार रुपए कमा सकते हैं, जबकि इसके दूध से तैयार होने की दही, छांछ और पनीर जैसे डेयरी प्रोडक्ट्स को बेचकर भी आप अलग से मुनाफा कमा सकते हैं। यही वजह है कि हरिया में मुर्रा भैंस को काला सोना के नाम से जाना जाता है।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!