कभी 30 हज़ार रुपयों से की थी शुरुआत, आज उसी बिज़नेस से सालाना 60 लाख कमाती हैं उमंग श्रीधर

कभी-कभी अपने सपनों पर विश्वास करके रिस्क ले लेना चाहिए. क्या पता ये रिस्क ही आपको बुलंदियों की ओर ले जाए! कुछ ऐसी ही कहानी है उमंग श्रीधर की.

भोपाल की उमंग श्रीधर उमंग खादीजी ब्रांड की फाउंडर हैं. पिछले साल प्रतिष्ठित बिजनेस मैगज़ीन Forbes की अंडर-30 अचीवर्स की लिस्ट में अपनी जगह बनाने वाली और देश के टॉप-50 सोशल Entrepreneurs की लिस्ट में शामिल उमंग ने अपने सफर की शुरुआत बस 30 हज़ार रुपये से की थी.

आज उनके क्लाइंट्स रिलायंस इंडस्ट्रीज और आदित्य बिड़ला ग्रुप जैसे बड़े समूह भी हैं. उनकी संस्था KhadiJi Bhopal का सालाना टर्नओवर 60 लाख है.

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, उमंग की कंपनी खादीजी का कांसेप्ट ‘खादी’ और ‘जी’ शब्दों को साथ मिलाकर बना. दरअसल, उमंग चरखे को डिजिटल फाॅर्म में पेश करती हैं. वो खादी और हैंडलूम फैब्रिक बनवाकर मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल के बुनकरों को रोज़गार दे रही हैं.

डिजाइनर्स, रिटेलर्स, होलसेलर्स और विभिन्न इंडस्ट्रीज को खादी सप्लाई कर रही इस कम्पनी की मालकिन उमंग मूल रूप से दमोह ज़िले के एक छोटे से गांव किशनगंज की रहने वाली हैं.

उनकी मां एक जनपद अध्यक्ष रह चुकी हैं. उमंग कहती हैं कि अपनी मां को देखकर वो हमेशा उन जैसा कोई बड़ा काम करने की तमन्ना रखती थीं.

ऑर्गेनिक कॉटन के साथ ही बांस और सोयाबीन से निकले वेस्ट मटेरियल के इस्तेमाल से वह अपने इको फ्रेंडली फैब्रिक को लंदन और यूरोप में भी फैलाना चाहती हैं.

बताते चलें, लॉकडाउन के शुरुआत से अब तक उनकी संस्था करीब 2 लाख मास्क बांट चुकी है, जिसके चलते करीब 50 महिलाओं को रोज़गार भी मिला है.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!