ख़ुद चौथी पास इंसान ने अपने परिवार को बनाया अफ़सरों का घराना, एक घर से IAS, IPS समेत 11 अफ़सर

भारत में एक परिवार ऐसा है, जिसमें IAS और IPS समेत 11 फर्स्ट क्लास अफसर मौजूद हैं. मूल रूप से ये परिवार हरियाणा के जींद जिले के गांव डूमरखां कलां का है. इन सभी की सफलता का बड़ा क्रेडिट जाता है चौधरी बसंत सिंह श्योंकद. एक ऐसा व्यक्ति, जिसे कलम की पॉार का ख़ूब तकाज़ा था.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, चौधरी बसंत सिंह श्योंकद खुद चौथी क्लास पास थे. बीते महीने मई में उन्होंने 99 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कहा दिया. मगर वह अपने परिवार को इस औहदे तक पहुंचाने के लिए हमेशा याद किये जायेंगे.

अकेले बसंत सिंह के परिवार ने देश को दो IAS, एक IPS समेत 11 क्लास वन असफ़र हैं. कहा जाता है कि कम पढ़े-लिखे बसंत की दोस्ती हमेशा बड़े अफसरों से रही. उन्होंने ये सब देखते हुए अपने बच्चों को शिक्षा दी और इस तरह के नक़्शे कदम पर चलने के लिए प्रेरित किया. बसंत सिंह के बेटे-बेटी, बहु और पोती भी अफ़सर हैं. उनके चारों बेटे क्लास वन के अफ़सर हैं, जबकि बहु और पोता आईएएस हैं. इसके साथ, उनकी पोती आईपीएस है, तो एक आईआरएस अफसर है.

दैनिक जागरण की एक रिपोर्ट के मुताबिक, बसंत सिंह के बड़े बेटे रामकुमार श्योकंद कॉलेज के रिटायर्ड प्रोफेसर हैं, जिनका बेटा यशेंद्र आईएएस है और बेटी स्मिति चौधरी अंबाला में बतौर रेलवे एसपी तैनात हैं. स्मिति के पति बीएसएफ में आईजी हैं.

बसंत सिंह के दूसरे बेटे कॉन्फेड में जीएम थे और उनकी पत्नी डिप्टी डीइओ रही हैं. इस तरह यह लिस्ट बहुत लम्भी है. बहु-बेटे, पोता-पोती किसी न किस बड़े सरकारी पद पर काम कर रहे हैं. बसंत सिंह के लिए
इससे ज्यादा गर्व की क्या बात हो सकती थी.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!