जरूरतमंद को दरवाजे तक मुफ्त खाना पहुंचाता हैं ये इंसान, ख्वाहिश इतनी कि कोई भूखा न रहें!

कोरोना महामारी के संकट काल में कई ऐसे लोग हैं जो दूसरे लोगों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं। इस लिस्ट में मुंबई के रहने वाले राजीव सिंघल का नाम भी शामिल है। राजीव सिंघल सड़कों पर उतर कर भूखे और जरूरतमंद लोगों को खाना खिला रहे हैं।

राजीव और उनका परिवार मुंबई और आसपास के शहरों में होम क्वॉरेंटाइन में रहने वाले लोगों को कोरियर के माध्यम से उनके घर पर खाना पहुंचाने का काम कर रहे हैं।

राजीव सिंघल मुंबई के दहिसर इलाके में रहते हैं और पेशे से वह एक बिजनेसमैन है। जरूरतमंद लोगों तक खाना पहुंचाने के लिए सिंघल ने मलाड के आशा किचन का सहयोग लिया है। आशा किचन की मदद से वह क्वारंटाइन में रह रहे लोगों के लिए पोषक तत्वों से भरपूर खाना पहुंचा रहे हैं।

आशा की संचालक आशा भतरिया और कृष्णा भतरिया ने अपने 1BHK घर को किचन में तब्दील कर लोगों की मदद का काम शुरू किया है। दोनों पति-पत्नी रोजाना 200 लोगों के लिए दो समय का खाना बनाकर होम क्वॉरेंटाइन में रह रहे लोगों के दरवाजे तक खाना पहुंचा रहे हैं। खास बात यह है कि उनके इस सफर में कई बार स्विगी और जोमैटो की टीम भी मदद कर रही है।

अपने इस काम को लेकर राजीव सिंघल ने बताया कि जब मैं और मेरा परिवार कोरोना वायरस से संक्रमित थे, तब हम होम क्वॉरेंटाइन रहने के दौरान मुझे और मेरे परिवार को पौष्टिक आहार नहीं मिल रहा था। कोरोना की वजह से बिल्डिंग सील थी। इस वजह से बाहर से खाना भी नहीं मंगवा सकते थे। ऐसे में हमने तय किया कि हम होम क्वॉरेंटाइन में रहने वाले लोगों की मदद करेंगे।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!