Budget: आजादी के 75 सालों में सिर्फ मोदी सरकार ही कर सकी है ये कारनामा, बजट के दौरान निर्मला सीतारमण ने कर दिया था कुछ ऐसा

देश को आजादी मिले 75 साल पूरे हो चुके हैं. इन 75 सालों में देश में कई उतार-चढ़ाव देखने को मिले हैं तो साथ ही देश में काफी बदलाव भी देखें गए हैं. वहीं देश में काफी प्रगति भी देखने को मिली है. देश हर साल अपना एक बजट भी पेश करता है.

इस बजट में वित्त वर्ष का पूरा लेखाजोखा तैयार किया जाता है. वहीं देश में अब तक कई सरकारों ने बजट पेश किया है लेकिन आजादी के 75 साल होने के बाद भी अब तक जो मोदी सरकार में हुआ है वो किसी भी सरकार में नहीं हुआ है.

बजट

वर्तमान में देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण है. मोदी सरकार में वित्त मंत्री के पद पर रहते हुए बजट के दौरान निर्मला सीतारमण ने सबसे लंबा बजट भाषण देने का रिकॉर्ड बनाया है. आजादी के 75 साल में सबसे लंबा बजट भाषण देने का रिकॉर्ड मोदी सरकार में ही बना है. भारत के बजट भाषण के लिए औसत समय 90 से 120 मिनट के बीच होता है. हालांकि निर्मला सीतारमण ने इससे भी ज्यादा देर तक बजट भाषण दिया है.

बजट भाषण

साल 2019 में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्तीय वर्ष 2019-2020 के लिए अपना पहला बजट पेश किया था. उस भाषण के साथ ही उन्होंने अब तक के सबसे लंबे बजट संबोधन का रिकॉर्ड तोड़ दिया था. उस दौरान उन्होंने बजट भाषण 2 घंटे 17 मिनट तक बोला था. हालांकि अगले साल निर्मला सीतारमण ने अपना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया.

निर्मला सीतारमण

इसके बाद अगले साल 2020 में उन्होंने अपना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया, जब उन्होंने वर्ष 2020-21 के लिए बजट पेश करते हुए 2 घंटे 42 मिनट तक बजट भाषण दिया था. इतने वक्त में भी निर्मला सीतारमण अपना पूरा बजट भाषण भी नहीं पढ़ पाई थीं. स्वास्थ्य संबंधी कारणों के चलते उन्हें अपना भाषण छोटा करना पड़ा और आखिर के कुछ पेज पढ़ने बाकी रह गए थे.

छोटा बजट भाषण

वहीं निर्मला सीतारमण से पहले जसवंत सिंह के नाम सबसे लंबा बजट भाषण का रिकॉर्ड था. साल 2003 में उन्होंने 2 घंटे 15 मिनट का बजट पेश किया था. इसके अलावा स्वतंत्र भारत के इतिहास में सबसे छोटा बजट भाषण 1977 में हीरूभाई एम पटेल के जरिए दिया गया था. उन्होंने केवल 800 शब्दों का अंतरिम बजट भाषण दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!