IND vs SL ODI Series: टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने ईशान किशन को लेकर दिया बड़ा बयान, कहा- युवा बल्लेबाज का समय आएगा

ईशान किशन के विश्व रिकॉर्ड दोहरा शतक जड़ने के बावजूद भारतीय एकदिवसीय अंतिम एकादश से बाहर होने को लेकर भले ही राय बंटी हुई हो लेकिन पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली का मानना है कि इस तेजतर्रार विकेटकीपर बल्लेबाज को अपने समय के लिए इंतजार करना होगा क्योंकि शुभमन गिल ने कुछ भी गलत नहीं किया है.

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के पूर्व अध्यक्ष ने गांगुली ने कहा, ‘‘मुझे यकीन है कि उसे (किशन को) मौका मिलेगा. उसका समय आएगा.’’ अक्टूबर-नवंबर में घरेलू सरजमीं पर होने वाले एकदिवसीय विश्व कप से पहले 50 ओवर के प्रारूप में भारत का कार्यक्रम काफी व्यस्त है.

बाएं हाथ के बल्लेबाज ईशान किशन ने 10 दिसंबर को चटगांव में बांग्लादेश के खिलाफ इतिहास रचा जब उन्होंने 131 गेंदों पर 210 रन बनाए. वह एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में सबसे कम उम्र में और सबसे तेज दोहरा शतक बनाने वाले खिलाड़ी बने.

इस पारी के बावजूद उन्हें भारत के अगले एकदिवसीय मैच में जगह नहीं मिली क्योंकि उन्हें मंगलवार को गुवाहाटी में श्रीलंका के खिलाफ तीन मैचों की श्रृंखला के पहले मैच में सलामी शुभमन गिल के लिए जगह बनानी पड़ी.

वेंकटेश प्रसाद सहित कई पूर्व क्रिकेटरों ने गुवाहाटी वनडे में ईशान किशन को बाहर करने के टीम इंडिया के फैसले की आलोचना की लेकिन गांगुली ने चुप रहना चुना.

गांगुली ने एक प्रचार कार्यक्रम के इतर कहा, ‘‘मुझे नहीं पता..मेरे लिए यह कहना मुश्किल है. भारत में हमारे पास बहुत अधिक राय हैं, (मुख्य कोच) राहुल द्रविड़ और (कप्तान) रोहित शर्मा को फैसला करने दें. जो लोग वास्तव में खेल खेलते हैं उन्हें वास्तव में यह तय करना चाहिए कि कौन सर्वश्रेष्ठ है.’’

गुवाहाटी एकदिवसीय मैच में विराट कोहली ने अपना 45वां एकदिवसीय शतक लगाया और सचिन तेंदुलकर के सर्वकालिक रिकॉर्ड 49 शतकों से चार शतक पीछे हैं. कोहली और तेंदुलकर की तुलना के बारे में पूछने पर गांगुली ने कहा, ‘‘इस सवाल का जवाब देना मुश्किल है. कोहली एक शानदार खिलाड़ी हैं. उन्होंने ऐसी कई पारियां खेली हैं, 45 शतक ऐसे नहीं बन जाते. वह एक विशेष प्रतिभा है. ऐसा समय भी होगा जब वह स्कोर नहीं करेगा लेकिन वह एक विशेष खिलाड़ी है.’’

कार दुर्घटना के बाद रिहैबिलिटेशन से गुजर रहे ऋषभ पंत इस बार आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स की अगुआई करने के लिए उपलब्ध नहीं होंगे.

तीन साल के बाद दोबारा इस आईपीएल टीम से जुड़ने वाले गांगुली ने कहा, ‘‘हमारे पास जो भी टीम होगी हम उसके साथ सर्वश्रेष्ठ करेंगे. हर बार एक चुनौती होती है, हमारे पास 2019 में एक अलग टीम थी. मैं तीन साल तक यहां नहीं था और हम इस बार अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश करेंगे.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!