केंद्र सरकार की चेतावनी के बाद केरल में कोरोना की गाइडलाइंस जारी-बोलीं स्वास्थ्यमंत्री

केरल के स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने बुधवार को बताया कि राज्य सरकार ने केंद्र द्वारा कोरोना वायरस से बचाव के लिए जारी अलर्ट के आधार पर प्रदेश में COVID-19 के लिए नए दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं. प्रेस को संबोधित करते हुए, जॉर्ज ने कहा कि राज्य में कोरोना के नए बीएफ.

7 वेरिएंट का फिलहाल कोई मरीज नहीं मिला है. लेकिन, राज्य सरकार ने केंद्र सरकार के अलर्ट का संदेश प्राप्त करने के बाद कोविड-19 के नए दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं.

कोरोना के दिशानिर्देश नए नहीं है

केरल के स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा कि “हालांकि केंद्र सरकार के ये दिशानिर्देश नए नहीं हैं. कोविड-19 महामारी की शुरुआत के बाद से, हमारी सरकार ने नागरिकों को मास्क, सैनिटाइज़र का उपयोग करने और सामाजिक दूरी का पालन करने सहित कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए हमेशा प्रेरित किया है. यह एक नियमित बात है.”

राज्य में मिला है कोई नया वेरिएंट

राज्य में BF.7 वेरिएंट पर टिप्पणी करते हुए राज्य की स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार जीनोम सीक्वेंसिंग कर रही है और अबतक राज्य में कोई नया वेरिएंट नहीं मिला है.

कोविड-19 के अलावा, स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी घोषणा की कि खाद्य सुरक्षा को दी गई प्राथमिकता के कारण राज्य में सबसे कम खाद्य विषाक्तता के मामले दर्ज किए गए हैं. उन्होंने यह भी कहा कि सरकार राज्य में खाद्य सुरक्षा और स्वच्छता सुनिश्चित करने के लिए व्यवस्था को बदलने की योजना बना रही है.

पहले केरल में ही तेजी से फैला था संक्रमण

बता दें कि कोरोना की पिछली लहरों के दौरान केरल में सबसे ज्यादा मरीज पाए गए थे. केरल में विदेशों से लोगों का आना-जाना लगा रहता है. केरल में काफी संख्या में लोग दूसरे देश में रोजगार के लिए जाते हैं.

इसलिए इस राज्य में विदेश से आने वाले लोगों की संख्या को ध्यान में रखते हुए कोरोना के संक्रमण की ज्यादा आशंका रहती है. पिछली लहरों के दौरान विदेशों से आए लोगों में संक्रमण पाया गया था और फैला था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!