सब्ज़ीवालों की मदद के लिए बना डाला चलता-फिरता फ्रिज! किसान पिता के इंजीनियर बेटे का कमाल

आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है – इस वाक्य में थोड़ा फेर-बदल करते हैं. आवश्यकता ही इनोवेशन की जननी है. हमारे देश में टैलेंट की कमी नहीं है. ज़रूरत पड़ने पर किसी ने बैटरी से चलने वाला ट्रैक्टर बना दिया, तो किसी ने गोबर से लकड़ी बनाने की मशीन बना डाली.

कुछ इनोवेटर्स ऐसे भी हैं जो समाज में परिवर्तन लाने की नीयत से मशीन, डिवाइस बना देते हैं. धनबाद के कुछ इंजीनियर्स ने ऐसी डिवाइस बना दी थी, जो अगर गाड़ी में लगी हो तो शराब पिए हुए ड्राइवर से गाड़ी स्टार्ट ही नहीं होगी.और अब कर्नाटक के कुछ इंजीनियरिंग छात्रों ने सब्ज़ी विक्रेताओं की ज़िन्दगी आसान करने के लिए चलता-फिरता फ्रिज  बना दिया.

फल-सब्ज़ी बेचने वालों के लिए बनाया चलता-फिरता Fridge

गर्मियों में विक्रेताओं के लिए सबसे बड़ी समस्या होती है फलों और सब्ज़ियों को ताज़ा रखना. विद्यावर्धक कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, मैसूर के चार छात्रों ने विक्रेताओं की लाइफ आसान करने के लिए चलता-फिरता फ्रिज बना दिया. नवीन एचवी, शुभम सेन, सुप्रीत एस और विवेक चंद्रशेखर ने ये फ्रिज बनाया है.

किसान के बेटे ने आसान कर दी सब्जी विक्रेताओं की ज़िंदगी

नवीन एचवी ने इनोवेटर्स की इस टीम को लीड किया. नवीन के पिता किसान हैं. किसानों को किन समस्याओं का सामना करना पड़ता है, इससे नवीन पूरी तरह वाकिफ़ था. एक किसान का अपनी फसल को घर-घर पहुंचाना आसान नहीं होता.

नवीन और उसकी टीम ने सब्ज़ी विक्रेताओं पर भी शोध किया. टीम ने विशेषज्ञों से राय ली जिसके आधार पर एयर-कूल्ड चैंबर बनाया. मशीन सौर उर्जा पर चलती है. फ्रिज के मौजूदा मॉडल को दिन में एक बार चार्ज करना पड़ता है और उसके बाद वो सौर उर्जा से ही चलती है. छात्रों ने फ्रिज को कुछ इस तरह से डिज़ाइन किया है कि इसमें डेयरी प्रोडक्ट्स भी रखा जा सकता है.

पढ़ाई करते हुए, परीक्षा करते हुए बना दी मशीन

छात्रों के लिए पढ़ाई, एसाइन्मेंट्स, प्रोजेक्ट्स और परिक्षाएं ही बैलेंस करना मुश्किल होता है. इन चारों पढ़ाई और इनोवेशन में बैलेंस बनाया और मशीन बना दी. चलती-फिरती इस फ्रिज की कीमत 52,292 रुपये है. वहीं मार्केट में उपलब्ध अन्य कूलर कार्ट्स 1 लाख या उससे ज़्यादा के मिलते हैं.

युवा इनोवेटर्स इस फ्रिज में और बदलाव कर रहे हैं. वे इसमें सेंसर लगाने की योजना बना रहे हैं जिससे एनर्जी जेनरेट की जा सके और ये फ्रिज और एनर्जी एफ़िशियंट बने.नवीन और साथियों की जितनी भी तारीफ़ की जाए कम है.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!