कभी ऑटो रिक्शा चलाते थे, आज है 3 हेलीकाप्टर के मालिक; पहचान के दम पर खड़ा किया करोड़ो का बिजनेस

महाराष्ट्र के सतारा जिले के एक गांव का एक व्यक्ति पुणे आया और रिक्शा चलाने लगा. रिक्शा चलाते-चलाते उसने छोटे-छोटे कंस्ट्रक्शन ठेके लेना शुरू कर दिया. बाद में वह इतने बड़े बिल्डर बन गए कि केंद्रीय मंत्री, मुख्यमंत्री और कई दिग्गज नेता उनके होटल के उद्घाटन के लिए आने लगे. कभी कभी तो शरद पवार उनका हेलीकाप्टर इस्तेमाल करते थे. बालासाहेब ठाकरे उनके फार्महाउस पर रहते थे. पुणे में शूटिंग के बाद मशहूर हॉलीवुड अभिनेत्री एंजेलिना जोली और अभिनेता ब्रैड पिट उनके बंगले में रहने लगे.

ये सब पढ़कर थोड़ा हैरानी होगी. लेकिन यह हमारे जीवन में पुणे के एक उद्यमी अविनाश भोसले पाटिल ने हासिल किया है. अविनाश भोसले का जन्म सतारा जिले के तांबवे गांव में हुआ था. लेकिन अविनाश अपने पिता की नौकरी के कारण अहमदनगर जिले के संगमनेर चले गए. पिता जल संसाधन विभाग में इंजीनियर थे.

अविनाश भोसले पुणे आए. अविनाश जब रोजगार की तलाश में पुणे आया तो उसने शुरू में रिक्शा चलाने का काम करना शुरू किया. इसके माध्यम से अविनाश ने कंस्ट्रक्शन क्षेत्र के लोगों और राज्य के लोक कंस्ट्रक्शन विभाग में काम करने वाले लोगों से अनुबंध के माध्यम से परिचित हुए. इसके बाद उन्होंने रिक्शा किराए पर देना शुरू कर दिया.

इस वजह से वे छोटे-छोटे सड़क कार्य करने लगे. लेकिन 1995 में उनकी किस्मत बदल गई. जब महाराष्ट्र में गठबंधन की सरकार आई. गठबंधन सरकार ने भोंसले को लिफ्ट दी. 1995 से पहले, सभी जल संसाधन कार्य आंध्र प्रदेश के ठेकेदारों द्वारा किए जाते थे. लेकिन एक व्यक्ति भोसले के रूप में सामने आया. पश्चिमी महाराष्ट्र में सूखे को कम करने के लिए उस समय स्थापित कृष्णा घाटी विकास निगम के अधिकांश कार्यों को मिला.

उसी क्षण से, भोसले ने अपने सभी टैलेंट का उपयोग किया और उनकी ज़िन्दगी सुचारू रूप से चलने लगी. उन्होंने राज्य भर में कई जगहों पर नहरों और बांधों का कंस्ट्रक्शन किया. चूंकि इस सरकार का मुख्यालय पुणे में है, यह अविनाश भोसले के लिए कई तरह से सुविधाजनक था. उन्होंने 1999 में पूरे देश में काम करना शुरू किया. उसने जल संसाधनों के अलावा अन्य क्षेत्रों में छलांग लगा दी.

अविनाश भोसले के राजनीतिक नेताओं के साथ अच्छे संबंध थे. नेताओं के साथ-साथ उनके वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के साथ भी अच्छे दोस्ताना संबंध थे. वे पहले ठेकेदार के रूप में जाने जाते थे जो राजनेताओं को जो कुछ भी देना चाहते थे, प्रदान करते थे. यहां तक ​​कि वह मंत्रालय के कई अधिकारियों को कॉफी पिलाया करते थे.

अविनाश भोसले ने 1979 में एबीआईएल ग्रुप (अविनाश भोसले इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड) की स्थापना की. इसके जरिए उन्होंने कंस्ट्रक्शन सेक्टर में काम करना शुरू किया. पुणे में अविनाश भोसले के होटल के उद्घाटन के मौके पर तत्कालीन मुख्यमंत्री विलासराव देशमुख, शरद पवार, गोपीनाथ मुंडे, पतंगराव कदम और तत्कालीन गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे जैसे दिग्गज नेता मौजूद थे.

अविनाश भोसले का बनार में एक घर है. इसे व्हाइट हाउस का नाम दिया गया है. इस सफेद बंगले का लुक अमेरिका के व्हाइट हाउस जैसा है. यहां भोसले के तीन हेलीकॉप्टर हैं. 2013 में जब शरद पवार सांगली के दौरे पर थे, तब अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई. उस समय उन्हें भोसले के हेलीकॉप्टर से पुणे लाया गया था. हेलीकॉप्टर बानेर में एक घर पर उतरा.

अविनाश भोसले की बेटी की शादी कांग्रेस नेता और राज्य सरकार के मंत्री विश्वजीत कदम से हुई है. अविनाश भोसले हमेशा अपने हेलिकॉप्टर की वजह से चर्चा में रहते हैं. कहा जाता है कि सभी राजनीतिक नेता अपने हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल करते हैं. राष्ट्रीय राजनीति में भी. अक्सर अविनाश भोसले विवादों में भी घिरे रहते हैं.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!