एक व्यापारी देश के चारों दिशाओं में बनवा रहा है श्री हनुमान की चार प्रतिमाएं

दुनिया में दो तरह के लोग होते हैं, एक जिन्हें ईश्वर में आस्था है और दूसरे वो जिन्हें ईश्वर के होने पर संशय है. आस्था में डूबे लोग अपने प्रभु, अपने भगवान के लिए बहुत कुछ करते हैं. कोई दान-पुण्य करता है, कोई व्रत रखता है, कोई नंगे पांव प्रभु के दरबार में हाज़िरी लगाने पहुंचता है. सभी इंसान अपनी इच्छानुसार अपने इष्ट की सेवा करते हैं. हांलाकि आपका इष्ट कौन है, ये आप ख़ुद तय करते हैं, आप किनसे सबसे ज़्यादा जुड़ा महसूस करते हैं, ये निर्णय आपके अंतर्मन का होता है. दिल्ली के एंटरप्रेन्योर और उद्योगपति, निखिल नंदा को भगवान हनुमान में सच्ची आस्था है. निखिल का मानना है कि उनके पास आज जो कुछ भी है वो सब हनुमान जी की कृपा से ही है. और अपनी आस्था को अब वो सजीव रूप देने के पथ पर हैं. निखिल नंदा देश की चारों दिशाओं में श्री हनुमान की चार विशाल प्रतिमाएं बनवा रहे हैं.

शिमला के जाखू मंदिर में विश्व की सबसे ऊंची हनुमान प्रतिमा बनवाई

निखिल नंदा हनुमान जी चार धाम बना रहे हैं. 2008 में इस प्रोजेक्ट की शुरुआत हुई. इस योजना के अंतर्गत देश के चारों दिशाओं में हुनमान जी की प्रतिमाएं बनेंगी. The New Indian Express की एक रिपोर्ट के अनुसार, निखिल नंदा ने शिमला, हिमाचल प्रदेश स्थित जाखू मंदिर में 108 फ़ीट ऊंची हनुमान जी की प्रतिमा बनवाई. 2010 में इस प्रतिमा को दर्शनार्थियों के लिए खोला गया. नंदा ने बताया कि बरसों से उनका परिवार दर्शन के लिए जाखू मंदिर पहुंच रहा है और इसलिए उन्होंने वहां श्री हनुमान की प्रतिमा बनाने का निर्णय लिया.

मोरबी, गुजरात में भी बनी हनुमान जी की प्रतिमा

उत्तर दिशा के १०८ फुट हनुमान जी (जाखू मन्दिर शिमला) की प्रतिमा के बाद अब पश्चिम दिशा के १०८ फुट हनुमान जी (मोर्बि गुजरात) की प्रतिमा का कार्य सम्पूर्ण होते हुए ॥

हनुमान जी चार धाम में दूसरा मंदिर, पश्चिम दिशा में बनाया जाएगा. मोरबी, गुजरात में 108 फ़ीट की हनुमान प्रतिमा लगाई जाएगी. हरीश चंदर नंदा एजुकेशन ऐंड चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा ये प्रतिमा स्थापित की जाएगी.

रामेश्वरम में लगेगी श्री हनुमान की प्रतिमा

हनुमान जी चार धाम प्रोजेक्ट के तहत तीसरी प्रतिमा दक्षिण में रामेश्वरम में लगाई जाएगी. 23 फरवरी को रामेश्वरम, तमिलनाडु में 100 करोड़ की लागत से बनने वाले 108 फ़ीट की हनुमान प्रतिमा का शिलान्यास किया गया.

टूथब्रश निर्माता हैं निखिल नंदा

निखिल नंदा बीते 2 दशकों से ओरल केयर इंडस्ट्री में है. एच सी नंदा फ़ाउंडेशन के ज़रिए वे देश की चारों दिशाओं में श्री हनुमान की सबसे ऊंची प्रतिमाएं लगा रहे हैं. जब उनके व्यापार में दिन दोगुनी रात चौगुनी तरक्की होने लगी तब उन्होंने हनुमान जी की प्रतिमाएं बनाकर उनका धन्यवाद करने का निर्णय लिया. निखिल नंद की जेएचएस स्वेन्दगार्ड लेबरॉटरीज़ देश की शीर्ष टूथब्रश मैन्युफ़ेक्चरिंग कंपनीज़ में से एक है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!