छात्र को पहुंचना था कॉलेज, ट्रेन हुई रद्द तो भारतीय रेलवे ने बुक करा दी कैब, लोग कर रहे हैं तारीफ

आपने कई बार देखा, सुना या अनुभव किया होगा कि कई कारणों से ट्रेनें मौके पर रद्द कर दी जाती हैं. ऐसे में यात्रियों को काफी दिक्कत होती है. इस स्थिति में भारतीय रेलवे द्वारा ज्यादा से ज्यादा यही मदद होती है कि टिकट के पैसे वापस हो जाते हैं.

ये स्थिति उन लोगों के लिए बड़ी मुसीबत बन जाती है जिन्हें उसी तारीख में एक निश्चित समय पर किसी जरूरी जगह पहुंचना होता है.

ट्रेन हुई रद्द, रेलवे ने की मदद

इस स्थिति में किसी ने ये नहीं सोचा होगा कि भारतीय रेलवे, ट्रेन कैंसिल होने पर यात्री के गंतव्य तक पहुंचने की कोई और व्यवस्था करेगा. ये सच में उम्मीद से बाहर की बात है लेकिन एक छात्र की ऐसी उम्मीद सच साबित हुई.

दरअसल, गुजरात के एक छात्र को एकता नगर से वडोदरा जाना था लेकिन एकदम मौके पर उनकी ट्रेन के रद्द हो गई. ये समस्या जब भारतीय रेलवे ताक पहुंची तो उन्होंने मामले को गंभीरता से लिया.

इसके बाद सत्यम गढ़वी नामक इस छात्र के लिए भारतीय रेलवे द्वारा एक कैब बुक कराई गई, जिससे कि वह समय पर वडोदरा पहुंच कर वहां से चेन्नई के लिए अपनी ट्रेन पकड़ सके.

छात्र के लिए कराई कैब बुक

सत्यम गढ़वी IIT मद्रास के इंजीनियरिंग छात्र हैं. उन्हें अपने घर से वापस कॉलेज लौटना था. उन्होंने एकता नगर से वडोदरा के लिए एक ट्रेन बुक की थी. आगे वडोदरा से उन्हें चेन्नई के लिए ट्रेन लेनी थी.

बारिश के कारण पटरियों पर पानी भर जाने के कारण ट्रेन रद्द हो गई. ऐसे में भारतीय रेलवे ने छात्र की मदद का जिम्मा उठाया और उनके लिए एकता नगर से वडोदरा के लिए कैब बुक की, ताकि वह वहां से चेन्नई जा सकें.

वीडियो शेयर कर दिया धन्यवाद

भारतीय रेलवे द्वारा की गई इस मदद के अधिकारियों को धन्यवाद देने के लिए सत्यम ने ट्विटर पर एक वीडियो संदेश शेयर किया. इस वीडियो में उन्होंने कहा कि “आज, मैं अपनी यात्रा को सफल बनाने के लिए एकता नगर और वडोदरा के पूरे रेलवे विभाग का बहुत आभारी हूं.

मैंने जो ट्रेन बुक की थी, उसे एकतानगर से 9:15 बजे प्रस्थान करना था. लेकिन बारिश के कारण पटरियों पर पानी भर जाने की वजह से आखिरी समय में ट्रेन रद्द कर दी गई.”

सत्यम ने आगे कहा कि, “लेकिन एकता नगर के सहयोगी स्टाफ ने मेरे लिए एक कैब बुक कर दी. उन्होंने दिखाया कि वे रेलवे के प्रत्येक यात्री को कितना महत्व देते हैं. ड्राइवर अच्छा था. उन्होंने वडोदरा से ट्रेन पकड़ने को एक चुनौती के रूप में लिया. ”

सत्यम का ये वीडियो वायरल होने के बाद लोग भारतीय रेलवे द्वारा सत्यम पर की गई दयालुता के लिए उनकी सराहना कर रहे हैं. इस वीडियो पर बहुत से लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया दर्ज कराई है.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!