ये कोई एयरपोर्ट नहीं, देश का पहला AC रेलवे स्टेशन है! तस्वीरें यकीन दिलाने के लिए काफ़ी हैं

पिछले कुछ समय में भारतीय रेल ने काफ़ी बदलाव किये हैं. इसी समय में देश के रेल नेटवर्क में कई नई ट्रेन जुड़ी, इनमें से कुछ सुविधाओं के मामले में विदेशी ट्रेन से भी बेहतर हैं. आलीशान सुविधाओं और नई टेक्नोलॉजी लैस ट्रेन के अलावा देश के रेलवे स्टेशन के नवीनीकरण पर भी काम चल रहा है. इसी समय में भारतीय रेलवे ने एक और कीर्तिमान अपने नाम किया है. देश का पहला पूरी तरह से AC टर्मिनल बनाया गया है, जिसे भारत के पहले सिविल इंजीनियर और भारत रत्न सम्मानित सर एम. विश्वेशवरैय्या के नाम से रखा गया है.

बेंगलुरु में निर्मित देश के पहले AC रेलवे टर्मिनल की तस्वीरें भी शानदार हैं

जल्द ही शुरू होने वाला है देश का पहला एसी टर्मिनल

यह अपने देश का पहला सेंट्रलाइज्ड एसी रेलवे स्टेशन है

यहां से 50 हज़ार लोगों तक की आवाजाही आसानी से हो सकेगी

इस नए टर्मिनल में एक फुटओवर ब्रिज और दो सब-वे भी हैं. इसके अलावा इसमें एस्केलेटर्स और लिफ्ट्स की भी सुविधा है. वीआईपी लाउंज की भी व्यवस्था है, जहां यात्रा करने वाले अपनी ट्रेन का इंतजार कर सकते हैं.

नए टर्मिनल में एक फुटओवर ब्रिज और दो सब-वे भी हैं

314 करोड़ की लागत से बना ये टर्मिनल 4200 वर्ग मीटर में फैला है. यहां से रोज़ाना 50 ट्रेन चलती हैं.

इसे बेंगलुरु अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट की तर्ज पर बनाया गया है. इसके शुरू होने के बाद लंबी दूरी की ज्यादा ट्रेनें चल सकेंगी.

इसे फरवरी के अंत तक खोला जाना था, लेकिन कुछ समस्याओं के चलते इसमें देरी हुई हैउम्मीद है जल्द से जल्द यह बेंगलुरु में शुरू हो जाएगा.

यहां एक शानदार फूड कोर्ट भी बनाया गया है,जहां लोग अपनी इच्छा का खाना और नाश्ता कर सकते हैं.

इस टर्मिनल के खुलने के बाद से बेंग्लुरू के सभी जिलों को मुंबई, चेन्नई जैसे बड़े शहरों से जोड़ा जाएगा.

अब जल्द से इसके खुलने का इंतज़ार रहेगा.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!