IND vs NZ : बैंच पर ही कटेगी इस खिलाड़ी की सीरीज! जानिए किसने रोका रास्ता

भारत और न्यूजीलैंड के बीच वन डे सीरीज खेली जा रही है। हैदराबाद में खेला गया सीरीज का पहला मैच टीम इंडिया ने अपने नाम कर लिया है और बढ़त भी बना ली है। अब अगला मैच शनिवार को रायपुर में खेला जाना है।

जहां एक ओर टीम इंडिया की कोशिश होगी कि दूसरा मैच भी जीतकर सीरीज पर कब्जा किया जाए, वहीं न्यूजीलैंड की टीम चाहेगी कि दूसरा मैच अपने नाम कर सीरीज को बराबरी पर लाया जाए, ताकि विनर का फैसला आखिरी मैच से हो।

सीरीज का पहला मैच भारत ने जीत भले लिया हो, लेकिन 350 रनों के टारगेट का पीछा करने के लिए जब न्यूजीलैंड की टीम उतरी तो भारतीय गेंदबाज एक वक्त फंसे हुए नजर आ रहे थे।

अगर विकेट न गिरे होते तो माइकल ब्रेसवेल ने मैच करीब करीब जिता ही दिया था। लेकिन अब सवाल ये है कि रायपुर में नया मैच होगा, क्या कप्तान रोहित शर्मा और टीम मैनेजमेंट भारत की प्लेइंग इलेवन में कुछ बदलाव करेंगे या फिर पहले मैच वाली ही टीम मैदान में उतरेगी।

अगर कप्तान ने कड़ा रुख अपनाया तो लग रहा है कि एक खिलाड़ी के लिए पूरी सीरीज बैंच पर ही गुजर जाएगी। हालांकि इससे पहले जब भी मौके मिले, उसने अच्छा प्रदर्शन किया है, लेकिन जैसे ही दूसरा खिलाड़ी आया, उसमें ऐसा कमाल कर दिया कि उसकी जगह टीम में पक्की नजर आ रही है।

कुलदीप यादव ने कमाल का प्रदर्शन किया, युजवेंद्र चहल की वापसी मुश्किल

न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले वन डे मैच में कुलदीप यादव ने फिर से अपनी फिरकी का जादू दिखाया। उन्होंने आठ ओवर फेंके, इसमें एक मेडन डाला। उन्होंने कुल​ मिलाकर 43 रन दिए और दो विकेट लेने में कामयाब रहे। ये विकेट भी किसी छोटे या फिर टेलएंडर्स के नहीं थे।

कुलदीप ने हेनरी निकोलस और डेरिल मिचेल को चलता किया। इससे पहले श्रीलंका के खिलाफ वन डे सीरीज में भी उन्हें दो मैच खेलने का मौका मिला और हर बार उन्होंने शानदार खेल दिखाया। दो मैचों में उन्होंने पांच विकेट लेने का काम किया। अब अगर सब कुछ ठीकठाक रहा तो आने वाले दो मैचों में भी कुलदीप यादव ही प्लेइंग इलेवन का हिस्सा हो सकते हैं

अगर ऐसा हुआ तो फिर इसका मतलब ये भी निकाला जाना चाहिए कि युजवेंद्र चहल को बाहर ​बैठना पड़ेगा। क्योंकि दूसरे स्पिनर के तौर पर वॉशिंगटन सुंदर टीम में हैं, जो ठीकठाक बल्लेबाजी भी करते हैं। युजवेंद्र चहल हालांकि श्रीलंका के खिलाफ वन डे सीरीज में कप्तान रोहित शर्मा की पहली पसंद थे।

पहले वन डे में वही खेले थे। लेकिन दूसरे मैच के पहले उन्हें इंजरी हो गई और कुलदीप यादव की एंट्री होती है। कुलदीप यादव आते ही ​लगातार विकेट निकालने लगे, इसके बाद वे टीम में बने हुए हैं।

युजवेंद्र चहल ने जो पहला मैच खेला था, उसमें वे प्रभावित करने में कामयाब नहीं हुए थे। उसमें चहल ने दस ओवर में 58 रन दिए और एक विकेट ही निकाल पाए थे। हालांकि अभी ये साफ नहीं है कि चहल की चोट अब कैसी है, लेकिन अगर वे ठीक हो भी जाते हैं तो भी शायद उन्हें बाहर ही बैठना पड़े।

एक साथ नजर नहीं आएगी कुल्चा की टीम

इस बीच फैंस इसका भी इंतजार कर रहे हैं कि कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की जोड़ी क्या एक बार फिर से मैदान पर एक साथ दिखाई देगी। एक दौर था, जब एक तरफ से युजी चहल मोर्चा संभालते थे और दूसरी ओर कुलदीप यादव घातक बन जाते थे। उस वक्त विरोधी टीम के बल्लेबाज बुरी तरह से फंसा हुआ महसूस करते थे।

इसलिए उनकी जोड़ी का नाम भी कुल्चा रखा गया था, लेकिन अब ऐसा बहुत कम हो रहा है। पहले तो दोनों टीम में ही साथ साथ नहीं चुने जा रहे थे, अगर चुने भी जाएं तो प्लेइंग इलेवन में एक साथ नहीं होते थे।

लेकिन माना जाना चाहिए कि कप्तान रोहित शर्मा वॉशिंगटन सुंदर को बाहर ​बिठाकर इन दोनों को साथ खेलाना का मौका देंगे, इसकी संभावना काफी कम है। वैसे सुंदर ने बहुत ज्यादा प्रभावित नहीं किया है।

पहले वन डे में सुंदर ने सात ओवर में 50 रन ​दिए, लेकिन विकेट का कॉलम खाली रहा। बल्लेबाजी में भी उन्होंने 14 गेंद पर 12 रन बनाए और आउट हो गए। देखना होगा​ कि प्लेइंग इलेवन को लेकर कप्तान और टीम मैनेजमेंट क्या फैसला करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!