NPS से लेकर PPF तक, यहां जानें 2023 के लिए टैक्स सेविंग के कुछ टिप्स

क्या आप 2023 में अपने करों को कम करने के लिए रणनीति बनाने की कोशिश में लगे हैं? आपके पास कई तरह के निवेश विकल्प मौजूद हैं, जो आपके धन में वृद्धि कर सकते हैं और आपके टैक्स के बोझ को कम करने में आपकी सहायता कर सकते हैं.

सबसे पहले करदाता को निवेश करने से पहले अपने लक्ष्य पर विचार करना चाहिए. इसमें सबसे पहले वे यह सोचें कि क्या वे केवल टैक्स पर पैसा बचाना चाहते हैं या वे अच्छा रिटर्न भी कमाना चाहते हैं?

इसके लिए कई टैक्स सेविंग प्लान्स उपलब्ध हैं, लेकिन रिटर्न आम तौर पर कम होता है. इसका एक प्रमुख उदाहरण बैंक एफडी है. हालांकि ये सुरक्षित निवेश विकल्प हैं, लेकिन इसका रिटर्न आमतौर पर अधिक नहीं होता है.

हालांकि, आरबीआई द्वारा रेपो रेट बढ़ाने के बाद बैंकों ने भी एफडी पर रिटर्न बढ़ा दिया है. टैक्स सेविंग एफडी में एक कैप के बाद अर्जित ब्याज पर टैक्स का भुगतान किया जाना चाहिए. यदि धन का निर्माण करना भी आपके लक्ष्यों में से एक है, तो आपको इन योजनाओं में निवेश करना चाहिए क्योंकि वे बहुत अधिक रिटर्न देते हैं.

ईएलएसएस में तीन साल में पैसा होता है मैच्योर

सुकन्या समृद्धि योजना, एनपीएस, यूलिप, पीपीएफ, ईएलएसएस और एनएससी कुछ बहुत ही आकर्षक निवेश विकल्प हैं. यहां आप अच्छे रिटर्न के साथ-साथ टैक्स भी बचा सकते हैं. इसके अतिरिक्त, ईएलएसएस केवल तीन वर्षों में परिपक्व होता है. आपके पैसे को विस्तारित अवधि के लिए रोका नहीं जाता है. हालांकि, इसका रिटर्न स्थिर नहीं होता है.

टैक्स लाभ के लिए करें एनपीएस में निवेश

कर लाभ, रिटर्न और पेंशन फंड पर विचार करते समय राष्ट्रीय पेंशन योजना, या एनपीएस, इष्टतम निवेश रणनीति है. जब आप रिटायर हों तो आपको इसमें निवेश जारी रखना चाहिए. इसमें कर-मुक्त निवेश और रिवार्ड शामिल हैं. आप इससे 9% से 12% तक लाभ कमा सकते हैं.

बीमा पॉलिसीज हैं निवेश की बेहतर विकल्प

इसके अलावा भी कई निवेश विकल्प उपलब्ध हैं, जिनमें निवेश करके आप इनमक टैक्स बचा सकते हैं. इसमें बीमा कई पॉलिसीज भी हैं. जिन्हें लेकर आप अपने जीवन की सुरक्षा की गारंटी के साथ टैक्स भी बचा सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!