बॉस हो तो ऐसा ही हो, अपने नौकर और ड्राइवर को 3.95 करोड़ के शेयर गिफ्ट में दिये, दरियादिली देखिये

आपने देश और दुनिया में कई दानवीर देखे होंगे। ऐसे कई लोग हैं, जो लाखो-करोड़ो रुपए जरुरतमंदों को दान कर देते हैं। कई लोग किसी शख्स से खुश होकर उसे अपनी संपत्ति भी दान दे देते हैं। उनके हम आम भाषा में दानवीर कर्ण कहकर सम्बोधित करते हैं। आज हम एक ऐसे दरियादिल व्यवसाई के बारे में जानेंगे, जो आज रियल बॉस कहलाने का असली हक़दार है।

आपने IDFC बैंक का नाम कही न कही देखा और सुना ही होगा। जानकारी हो की IDFC (आईडीएफसी) बैंक के एमडी और सीईओ वी वैद्यनाथन है। जिन्होंने अपने नौकर और ड्राइवर को घर खरीदने में सहायता करने के लिए 3.95 करोड़ रुपए से अधिक के शेयर उपगार देकर दरियादिली की नई मिशाल पेस की है। ऐसा करके वे पूरे देश में छा गए हैं।

मीडिया में आई खबर के मुताबिक, IDFC फर्स्ट बैंक के MD और CEO वी वैद्यनाथन ने बड़े दानवीर बनकर एक मिसाल पेश की है, जो चर्चा का विषय बन गया है। बता दें की उन्होंने अपने ड्राइवर, हाउस हेल्प, ट्रेनर सहित 2 अन्य वर्कर्स को करोड़ों के शेयर गिफ्ट में दिए हैं। IDFC बैंक की तरफ से कहा गया है कि घर खरीदने के लिए ये शेयर उपहार दिए गए।

मीडिया रिपोर्ट बताती है की IDFC Bank CEO Vaidyanathan ने अपने ट्रेनर रमेश राजू को 3 लाख शेयर गिफ्ट किए। इसके अलावा, हाउस हेल्प प्रांजल नार्वेकर और ड्राइवर अल्गारसामी सी मुनापर को 2-2 लाख शेयर और ऑफिस सपोर्ट स्टाफ दीपक पाठारे और हाउस हेल्प संतोष जोगले को 1-1 लाख शेयर उपगार में दिए हैं।

रिपोर्ट्स में बताया गया है की ये सभी शेयर 21 फरवरी, 2022 को दिए गए। IDFC बैंक ने कहा कि इस तरह आईडीएफसी फर्स्ट बैंक लिमिटेड के कुल 11 लाख इक्विटी शेयर गिफ्ट और सोशल एक्टिविटीज के लिए दिए गए। इसके पूरे पेपर वर्क किये गए हैं।

जानकारी हो की CEO वैद्यनाथन द्वारा गिफ्ट में दिए गए 9 लाख शेयरों की कीमत 3,95,10,000 रुपए है। इसका कैलकुलेशन बीएसई पर हाल ही में क्लोजिंग प्राइस 43.90 रुपए पर गया था। इससे पहले भी वर्कर्स को गिफ्ट में मर्सिडीज भी दी जा चुकी है।

खबर है की यह ऐसा पहला केस नहीं है। जब किसी कर्मचारी को इसने बड़ा गिफ्ट दिया गया हो। बीते दिनों सीआर अनीश (CR Anish) नाम के एक कर्मचारी को उसके बॉस, एके शाजी (AK Shaji) ने एक मर्सिडीज-बेंज एसयूवी उपहार के तौर पर देकर सभी को हैरान कर दिया था। असल में अनीश की 22 सालो की सेवा और ईमानदारी से खुश होकर मालिक ने उन्हें इतना बड़ा गिफ्ट सौंपा।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!