सिर्फ 1 साल की तैयारी और पास कर लिया UPSC Exam, 22 साल की उम्र में IAS बनी ये लड़की

सिर्फ 1 साल की तैयारी और पास कर लिया UPSC Exam, 22 साल की उम्र में IAS बनी ये लड़की

संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सर्विस एग्जाम  को सबसे कठीन परीक्षाओं में से एक माना जाता है और इसके लिए स्टूडेंट कई साल तक तैयारी करते है. हालांकि कुछ कैंडिडेट ऐसे भी होते हैं, जो अलग रणनीति और कड़ी मेहनत की बदौलत पहले प्रयास में ही सफलता हासिल कर लेते हैं. ऐसी ही कुछ कहानी उत्तर प्रदेश के प्रयागराज की रहने वाली अनन्या सिंह  की है, जिन्होंने सिर्फ एक साल की तैयारी से यूपीएससी एग्जाम पास कर लिया और पहले प्रयास में ही आईएएस अफसर बन गईं.

10वीं-12वीं में रहीं डिस्ट्रिक्ट टॉपर

अनन्या सिंह शुरू से ही पढ़ाई में काफी अच्छी थीं और उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई प्रयागराज के सेंट मेरी कॉन्वेंट स्कूल से की. 10वीं में उन्होंने 96 प्रतिशत अंक हासिल किया, जबकि 12वीं में उनके 98.25 प्रतिशत नंबर थे. अनन्या दसवीं और बारहवीं दोनों में सीआईएससीई बोर्ड से डिस्ट्रिक्ट टॉपर रहीं. 12वीं के बाद अनन्या ने दिल्ली के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से इकोनॉमिक्स ऑनर्स में ग्रेजुएशन किया.

रोजाना करती थीं 7-8 घंटे पढ़ाई

अनन्या सिंह बचपन से ही आईएएस अफसर बनना चाहती थी और इसलिए ग्रेजुएशन के आखिरी साल में उन्होंने यूपीएससी एग्जाम  की तैयारी शुरू कर दी. अनन्या शुरू में रोजाना 7-8 घंटे पढ़ाई करती थीं, हालांकि बेस मजबूत होने के बाद उन्होंने पढ़ाई के लिए 6 घंटे फिक्स कर लिए. एक साल तक अनन्या ने खूब मेहनत की.

ऐसे की यूपीएससी एग्जाम की तैयारी

DNA की रिपोर्ट के अनुसार, अनन्या सिंह  ने टाइम-टेबल बनाकर यूपीएससी परीक्षा की तैयारी की. उन्होंने शुरुआत में प्री और मेंस एग्जाम की तैयारी एक साथ की. अनन्या कहती हैं कि प्री और मेंस एग्जाम से पहले का समय काफी कठिन होता है और इस दौरान वास्तव में कड़ी मेहनत करनी चाहिए. अनन्या ने बताया कि तैयारी की शुरुआत के लिए सबसे पहले उन्होंने किताबों की लिस्ट तैयार की और सिलेबस के अनुसार किताब जमा किए. इसके साथ ही जरूरत के हिसाब से हैंड नोट्स भी बनाएं. नोट्स के दो फायदे हुए एक तो ये शॉर्ट और क्रिस्प थे, जिसकी वजह से यह तैयारी और रिवीजन में बहुत काम आया. इसके साथ ही नोट्स लिखने की वजह से आंसर दिमाग में रजिस्टर हो गए.

पहले प्रयास में ही मिली सफलता

अनन्या सिंहने यूपीएससी की सिविल सर्विस एग्जाम  के लिए सिर्फ एक साल तैयारी की और पहले ही प्रयास में सफलता हासिल कर ली. उन्होंने साल 2019 में ऑल इंडिया में 51वीं रैंक हासिल की और आईएएस बनने का सपना पूरा किया. वर्तमान में अनन्या की पोस्टिंग एक आईएएस अफसर के रूप में पश्चिम बंगाल में है.

अनन्या सिंह की फैमिली

अनन्या सिंह के पिता पूर्व जिला न्यायाधीश हैं और उनकी मां अंजलि सिंह आईईआरटी में सीनियर लेक्चरर हैं. उनके बड़े भाई ऐश्वर्य प्रताप सिंह कानपुर में चीफ मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट के रूप में तैनात हैं. इसके अलावा अनन्या की भाभी ज्योत्सना भी कानपुर में मजिस्ट्रेट हैं.

यूपीएससी एस्पिरेंट्स को सलाह

यूपीएससी एग्जाम की तैयारी कर रहे कैंडिडेट्स को अनन्या सिंह  पिछले साल के पेपर देखने और रिवीजन पर फोकस करने की सलाह देती हैं. वे कहती हैं कि पिछले साल के जितने अधिक से अधिक पेपर देख सकें, जरूर देखें, क्योंकि कई बार कुछ विषयों में प्रश्न रिपीट हो जाते हैं. इसके साथ ही वह कहती हैं आपने जो भी पढ़ा है उसका जमकर रिवीजन करना भी बहुत जरूरी है. अनन्या का कहना है कि एग्जाम की तैयारी के दौरान पेपर पढ़ना कभी भी बंद ना करें और इंटरव्यू के पहले तक भी इसे पढ़ते रहें, क्योंकि इससे काफी मदद मिलती है.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Dhara Patel

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!