वे 7 अनाथ लोग जिन्होंने अपने दम पर हासिल की कामयाबी और दुनिया भर में बनाई एक अलग पहचान

एक माता पिता ही अपने बच्चे के सुनहरे भविष्य के लिए रास्ता तैयार करते हैं. जब तक बच्चा समझदार नहीं हो जाता तब तक माता पिता ही उसे समझाते हैं कि आगे कैसे बढ़ना है लेकिन जिनके सिर से माता पिता का साया उठ गया हो उनका जीवन भला कैसा होता होगा. ऐसे कई अनाथ बच्चे बेबस नजरों से अपने भविष्य को अंधकार की तरफ बढ़ते देखते रहते हैं. किन्तु, इन्हीं में कुछ बच्चों की किस्मत अच्छी साबित हुई है, माता पिता ना होने के बावजूद भी इन्होंने अपना रास्ता खुद बनाया और कामयाबी हासिल की. तो चलिए आज ऐसे ही कुछ अनाथ बच्चों के बारे में जानते हैं जिन्होंने अनाथ होने का दुख तो झेला मगर इससे टूटे नहीं :

1. राजेश खन्ना

प्यार से काका के नाम से याद किए जाने वाले राजेश खन्ना भारतीय सिनेमा के सुपरस्टार थे. उन्होंने उस जमाने में लोगों के दिलों पर राज किया जब बहुत ही गिने चुने अभिनेताओं को इतनी प्रसिद्धि मिली थी. ऐसे में किसी ने ये सोच नहीं होगा कि राजेश खन्ना एक अनाथ रहे होंगे, जिन्हें किसी द्वारा गोद लिया गया होगा. पद्म भूषण पुरस्कार विजेता राजेश खन्ना का असल नाम जतिन खन्ना था. उन्हें उनके अपने चाचा चुन्नीलाल खन्ना और चाची लीला वती ने पाला था.

2. बिल क्लिंटन

बिल क्लिंटन 46 साल की उम्र में संयुक्त राज्य अमेरिका के 42वें राष्ट्रपति चुने गए थे. जब क्लिंटन राष्ट्रपति बने तब वह अपने देश के तीसरे सबसे कम उम्र के राष्ट्रपति थे. विलियम जाफरसन ‘बिल’ क्लिंटन वास्तव में एक अनाथ थे जिन्हें गोद लिया गया था. बिल जब तीन महीने के थे तभी उनके पिता की एक कार दुरघना में मौत हो गई थी. इसके बाद पहले उन्हें उनके दादा दादी ने पाल और बाद में जब उनकी मां ने दूसरी शादी की तो उनके सौतेले पिता ने उन्हें गोद ले लिया.

3. नेल्सन मंडेला

नेल्सन मडेला का जन्म दक्षिण अफ्रीका के मावेज़ो गांव में हुआ था. उनका असली नाम रोलिहलाहला मंडेला Rolihlahla Mandela था. वह जब बहुत छोटे थे तभी टीबी की बीमारी के कारण उनके पिता की जान चली गई. जब मंडेला नौ साल के थे तब थेम्बू राजा जोंगिंटबा दलिंदेबो ने उन्हें गोद लिया था.

4. मर्लिन मुनरो

मर्लिन मुनरो का जन्म एक गरीब में हुआ था. उनकी मां एक अविवाहित महिला थीं, जो अपनी बेटी की देखभाल करने में सक्षम नहीं थीं. मर्लिन का बचपन अनाथालय में गुजरा, इस दौरान कई लोगों ने उन्हें गोद लिया. वह तब तक जीवित रहने के लिए संघर्ष करती रहीं जब तक उनकी मां की दोस्त ने उन्हें गोद नहीं लिया.

5. स्टीव जॉब्स

Apple और Inc. के संस्थापक स्वर्गीय स्टीव जॉब्स भी एक अनाथ थे जिन्हें गोद लिया गया था. उन्हें पॉल और क्लारा जॉब्स ने जन्म के समय गोद लिया था. स्टीव के पिता अब्दुलफत्ताह जंदाली एक सीरियाई मुस्लिम थे जिनके उनकी मां के साथ सांस्कृतिक मतभेद थे. इसी वजह से उनका रिश्ता टिक नहीं पाया. जिसके बाद पॉल और क्लारा ने स्टीव को गोद ले लिया.

6. अब्दुल नसर

अब्दुल नसर कोई बहुत ज्यादा जाना पहचाना नाम नहीं है लेकिन इनके जीवन के संघर्ष और सफलता से बहुत कुछ सीखा जा सकता है. अपने छह भाई बहनों में सबसे छोटे अब्दुल जब पांच साल के थे तो उनके पिता की मौत हो गई. गरीबी के कारण उनकी मां ने उन्हें अनाथालय में छोड़ दिया. कुछ साल बाद मां की भी मौत हो गई. अब्दुल अनाथ तो थे लेकिन ये दुख उनके हौसले को तोड़ ना पाया और वो पढ़ाई करते रहे. उन्होंने अनाथालय से ही पढ़ते हुए अपना संघर्ष जारी रखा और 2006 में यूपीएससी की परीक्षा पास कर डिप्टी कलेक्टर बने. 2017 में वह कोल्लम जिले के कलैक्टर बन गए.

7. मालकॉम एक्स

मालकॉम एक्स अमेरिका में अश्वेतों पर होने वाले अत्याचारों के खिलाफ आवाज उठाने वाले नेता थे. उनकी इस आवाज़ को दबाने के लिए एक रैली के दौरान उनकी हत्या कर दी गई थी. उनकी हत्या को लेकर नेटफ्लिक्स पर एक वेबसीरीज ‘Who Killed Malcolm’ भी आ चुकी है. मालकॉम जब 6 साल के थे तभी उनके पिता अर्ल लिटिल की एक सड़क दुर्घटना में संदिग्ध परिस्थितियों में मृत्यु हो गई थी. उनके परिवार को संदेह था कि उनकी हत्या एक श्वेत जातिवादी समूह द्वारा की गई थी. जब मालकॉम 12 साल के थे, तब उनकी मां लुईस को नर्वस ब्रेकडाउन हुआ और उन्होंने अगले 24 साल हॉस्पिटल बेड पर बिताए. अनाथ मालकॉम को कुछ लोगों ने गोद भी लिया लेकिन उन्हें कहीं भी माता पिता का प्यार नहीं मिला जिसके बाद वह अपनी सौतेली बहन के साथ रहने लगे.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!