सोनू सूद ने इस बेटी को गिफ्ट कर दी ढाई लाख की जर्मन राइफल, पैसे के अभाव में नही कर पा रही थी ओलम्पिक की तैयारी

कोरोना काल में हम सभी ने देखा कि अभिनेता सोनू सूद जरुरतमंद लोगों के लिए मसीहा बनकर सामने आएं थे। सोनू सूद अपने चैरिटी सूद फाउंडेशन (Sood Foundation) के जरिए लोगों की जरूरतों को पूरा करने का काम अभी तक जारी रखा है। इस कड़ी में उन्होंने हाल ही में झारखंड (Jharkhand) की एक संघर्षरत निशानेबाज (Struggling Shooter) कोनिका लायक को एक महत्वपूर्ण राइफल खरीदने में सहायता की है।

अभिनेता को इस बात की जानकारी तब लगी जब कोनिका लायक ने जनवरी में ट्विटर पर सोनू सूद को टैग करते हुए लिखा “11वीं झारखंड स्टेट रायफल शूटिंग चैम्पियनशिप मैंने एक गोल्ड मेडल और एक सिल्वर मेडल जीता। हालांकि सरकार ने मदद नहीं की है। कृपया एक राइफल के साथ मदद करें।” इस ट्वीट के बाद सोनू सूद ने मार्च महीने में इसका जवाब देते हुए आश्वासन दिया कि उन्हें शीघ्र ही राइफल मिल जाएगी।

कोनिका (Konica Layak) धनबाद की रहने वाली हैं। दो बार नेशनल क्वलाईफाइ करने के बावजूद भी वह अपने कोच या अपने दोस्तों से उधार ली गई राइफलों पर आश्रित थीं।

कोनिका लायक ने बताया था, “मेरे पास अपनी राइफल नहीं है क्योंकि इसकी कीमत लगभग 3 लाख रुपये है। मुझे राइफल के लिए अपने कोच या दोस्तों पर निर्भर रहना पड़ता है। राइफल के लिए मैंने 1 लाख रुपये उधार के साथ ही अपने मित्रों से 80 हजार रुपये की व्यवस्था की थी। किस्मत से सोनू सूद ने राइफल के लिए शेष राशि की व्य्व्स्था की जिससे मैंने राइफल के लिए ऑर्डर दे दिया है। ढाई महीने में जर्मनी निर्मित राइफल (German Rifle) मेरे पास होगी।”

शनिवार को जब कोनिका के पास राइफल (Rifle) पहुंची तो उन्होंने सोनू सूद को आभार प्रकट करते हुए ट्विटर पर टैग करते हुए लिखा “सर, मेरी राइफल आ गई है। मेरे परिवार में खुशियां छा गई हैं और पूरा गांव आपको ढेर सारे आशीर्वाद दे रहा है।”

निशानेबाज कोनिका लायक के धन्यवाद का जवाब देते हुए सोनू सूद ने लिखा, “भारत का ओलंपिक मेडल पक्का है। अब बस दुआओं की आवश्यकता है।”

ये ट्वीट अब तेजी से वायरल हो रहा है। अब तक इस ट्वीट पर हजारों लाइक्स के साथ कमेंट भी आ चुके हैं। सोनू सूद (Sonu Sood) के इस महान काम की जमकर तारीफ हो रही है। इसी कड़ी में एक यूजर ने लिखा, “कोनिका के शहर की तरफ से आपको दिल से शुक्रिया।”

राइफल मिलने के बाद कोनिका ने कहा कि इसके साथ मैं अपना अभ्यास कर सकती हूं। साथ ही अपने कौशल को बेहतर बनाने और नेशनल और इंटरनेशनल प्रतियोगिताओं में पदक हासिल करने की दौड़ में अपनी जगह बनाए रखने के लिए कोलकता में जॉयदीप कर्मकार शूटिंग एकडमी में प्रवेश भी ले सकती हूं।

वाकई सोनू सूद (Sonu Sood) ने अपने इस नेक काम से एक बार और सभी का दिल जीत लिया है। उनकी जितनी भी तारीफ की जाए वह कम ही है। The Logically सोनू सूद को लोगों की मदद करने के लिए भूरि-भूरि प्रशंसा करता है। –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!