कम लागत लगाके शुरू करें यह बिजनेस, एक साल में इस तरह करोड़ों का मुनाफा कमाएंगे

आज के समय में लोग अपने खुद के व्यवसाय को सही मानते हैं। नौकरी (Job) से लोग का भरोसा उठता जा रहा है। इसका कारण आपदा और लॉक डाउन के समय में हुई दिक्कतें थी। बहुत लोगोकी नौकरी चली गई। बिजनेसमैन वर्ग का व्यापर कुछ समय बस बाधित रहा और फिर फैलने फूलने लगा। ऐसे में अब लोग वयापार के नए नए रस्ते खोज रहे हैं।

यदि आप भी अपना कोई बिजनेस शुरू करने का मन बना चिके हैं, तो हम आपके लिए एक ज़बरदस्त बिजनेस आइडिया (Business Idea) लाये हैं। इस बिजनेस में राख की ईंटें (Fly Ash Business) बनाई जाती है। ज़ाहिर ही बात है की आप ऐसा कोई वयापार करना चाहते हैं, जिसमें मुनाफा ज्यादा हो। ऐसे में आपके लिए राख की ईंटें बनाने का बिजनेस सही रहने वाला हैं।

How To Do Fly Ash Bricks Production Business

यदि आपके पास निवेश करने के लिए पर्याप्त पूंजी नहीं है, तब भी आप यह व्यवसाय बैंक से लोन लेकर भी शुरू कर सकते हैं। इसमें फायदा होना पक्का है। अगर आपके पास अपनी खुद की जमीन है, तो आप कम खर्चे पर ही राख की ईंटें बनाने का बिजनेस कर सकेंगे। इस काम के लिए आपको 100 गज जमीन और मिनिमम 2 लाख रुपये के इन्वेस्टमेंट की जरूरत पड़ेगी।

इस बिजनेस से आप हर महीने 1 लाख रुपये और सालाना करोड़ो रुपए भी कमा सकते हैं। आज के समय में बिल्डिंग बनने और घरों के नवीनीकरण का काम बहुत हो रहा है। कुछ लोग घर बनाने के लिए फ्लाई ऐश से निर्मित ईंटों (Fly Ash bricks) का इस्तेकम कर रहे है।

राख की ईंटो के कई फायदे हैं

इन राख की ईंटो से घर बनाने में सीमेंट का खर्च 20 से 30 प्रतिशत तक घट जाता है। यह अधिक टिकाऊ भी होती है। इसकी फिनिशिंग भी दीवार के दोनों तरफ साफ़ आ जाती है। इसके अलावा प्‍लास्‍टर करने में सीमेंट कम लगती है। इन ईंटों में सूखी राख मिली होने के चलते इनसे बने घरों में नमी और सीडन भी नहीं आती है।

ईंटे तैयार करने में बिजली संयंत्रों जैसे थर्मल पावर प्लांट से निकलने वाली राख, सीमेंट व स्टोन डस्ट का इस्तेमाल किया जाता है। आपको अपने निवेश का एक बड़ा हिस्सा मशीनों में लगाना होता है। अगर आप मैन्युअल मशीन (Fly ash Bricks Machine) का इस्तेमाल करते हैं, तो आपको करीब 100 गज की जमीन की जरुरत पड़ेगी। मैन्युअल मशीन से ईंटें बनाने के लिए 5-6 लोगों की भी जरूरत पड़ेगी। फिर हर दिन 3,000 ईंटों का प्रोडक्शन कर सकते हैं।

यदि इस बिजनेस में ऑटोमेटिक मशीन (Automatic machine) का उपयोग किया जाए, तो आपकी कमाई कई गुना अधिक होगी। इस ऑटोमेटिक मशीन का प्राइस की कीमत 10-12 लाख रुपये तक आती है। इसकी मदत से काम बहुत जल्दी और अधिक मात्रा में हो जाता है। इस मशीन की मदत से 1 घंटे में 1000 ईंटों का प्रोडक्शन किया जा सकता है। मतलब एक अनुमान लगाया जाये, तो आप 1 महीने में 3 से 4 लाख ईंटों का उत्पादन कर लेंगे।

आपको ज्ञात हो की कश्मीर, लद्दाख, उत्तराखंड और हिमांचल प्रदेश जैसे राज्यों में मिट्टी की कमी रहती है। ऐसे में ईंटें कम बनती है या नहीं बनती हैं। उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब जैसे राज्यों से ईंटें मंगवाने के चलते खर्चा बढ़ जाता है। ऐसे में यहाँ के लोगो को मज़बूरी में महंगी ईंटें खरीदना पड़ता है। यदि आप इन फ्लाई ऐश ईंटों के उत्पादन का काम शुरू करें, तो अच्छी कमाई होगी और लोगो को कम कीमत पर ईंटें भी मुहैया हो जाएँगी।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!