एथलीट हिमा दास बनीं DSP, लोग बोले- देश को तुम पर गर्व हैं…तुम असली हीरो हो

असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने अंतरराष्ट्रीय एथलीट हिमा दास को शुक्रवार को औपचारिक रूप से पुलिस उपाधीक्षक पद पर नियुक्ति पत्र सौंपा है। हिमा दास को राज्य की एकीकृत खेल नीति यानी स्पोर्ट्स के तहत डीएसपी पद पर नियुक्त किया गया है। बता दें मालूम हो कि उन्हें सरुसजै खेल परिसर में उन्हें नियुक्ति पत्र दिया गया।

पुलिस उपाधीक्षक नियुक्ति पत्र मिलने के बाद हिमा दास और उनका परिवार बेहद खुश है। असम पुलिस में भर्ती हुए 597 उप निरीक्षक को स्वयं मुख्यमंत्री ने नियुक्ति पत्र सौंपा, जिसमें हेमा दास को डीएसपी पत्र सौंपा गया है। बता दें मुख्यमंत्री से इस अवसर पर नव नियुक्ति उप निरीक्षक को और उनके परिजनों को उनके नए सफर के लिए शुभकामनाएं दी।

इस दौरान सीएम सोनोवाल ने युवाओं को खेल में करियर बनाने के लिए भी प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि युवाओं को करियर के तौर पर खेल को अपनाना चाहिए। इस दौरान उन्होंने प्रोत्साहन देते हुए कहा कि राज्य ने एकीकृत खेल नीति लागू की गई है, जिसके तहत यह नियुक्ति की गई है।

इस दौरान मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनेवाल ने कहा कि राज्य सरकार ने एथलीट हिमा दास को असम पुलिस में पुलिस उपाधीक्षक के तौर पर इसलिए नियुक्त किया है क्योंकि उन्हें राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पटल पर अपनी कड़ी मेहनत और जज्बे के दम पर कई उपलब्धियों से प्रदेश और देश को गौरवान्वित किया है।

वही अपनी इस कामयाबी को लेकर एथलीट हिमा दास ने कहा कि स्कूल के दिनों से ही मैं एक पुलिस अधिकारी बनना चाहती थी। इसके साथ ही मेरी मां का भी यही सपना था कि मैं कुछ ऐसा ही करूं। आज भी याद है मां दुर्गा पूजा के दौरान खिलौनों में हमेशा मुझे बंदूक ही दिलाती थी। मां चाहती थी कि मैं असम पुलिस में भर्ती होकर लोगों की सेवा करूं।

हिमा दास ने कहा कि मुझे अपनी जिंदगी में हर कामयाबी खेल की वजह से मिली है। मैं असम पुलिस के लिए काम करते हुए अपना एथलीट का कैरियर भी जारी रखूंगी। साथ ही में असम को हरियाणा की तरह खेल में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला राज्य बनाने के क्षेत्र में भी काम करती रहूंगी।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!