ई-ट्रैक्टर बनाकर यूनिवर्सिटी ने किया कमाल, 9 घंटे चार्ज कर 100km चलेगा, सेहत भी रहेगा अच्छा

ई-ट्रैक्टर बनाकर यूनिवर्सिटी ने किया कमाल, 9 घंटे चार्ज कर 100km चलेगा, सेहत भी रहेगा अच्छा

पेट्रोल और डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं. ऐसे में चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय ने इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर तैयार किया है. दावा किया जा रहा है कि ये ट्रैक्टर 25 हॉर्स पावर के डीजल ट्रैक्टर के बराबर सभी काम कर सकता है.

कहा जा रहा है कि ये ट्रैक्टर किसानों की सेहत के लिए भी मुफीद है. डीजल ट्रैक्टर के मुकाबले इसमें कंपन कम है. इससे किसानों के स्पाइनल कॉड में दिक्कत नहीं होगी. पर्यावरण के हिसाब से भी ये ट्रैक्टर काफी अच्छा है.

यूनिवर्सिटी के लिए भी ये उपलब्धि है. वह देश की पहली कृषि यूनिवर्सिटी बनी है जिसने ट्रैक्टर बनाया है. ये ट्रैक्टर 16.2 किलोवाट की बैटरी से चलता है. ट्रैक्टर में लिथियम आयन बैटरी इस्तेमाल की गई है. दावा किया जा रहा है कि इसकी क्षमता 20 साल तक चलने की है.

80 किमी का सफर तय करेगा

यूनिवर्सिटी के कुलपति का दावा है कि ये ट्रैक्टर 23.17 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकता है. इसका वजन 1.7 टन है. ये एक बार में 80 किमी का सफर तय कर सकता है. इसकी बैटरी को चार्ज होने में 9 घंटे का समय लगेगा. इसमें फास्ट चार्जिंग का भी विकल्प है. इससे बैटरी सिर्फ 4 घंटे में भी चार्ज हो सकती है.

स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा

दावा किया जा रहा है कि ये ट्रैक्टर डीजल ट्रैक्टर के मुकाबले 32 फीसदी सस्ता है. इसमें 54% कम कंपन और 20.52% शोर है. ये बीआईएस कोड की अधिकतम अनुमेय सीमा से कम पाई गई है. ऑपरेटर के पास इंजन नहीं है तो इसमें तपीश भी कम है.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!