Haryana से सीधे Harvard: किसान के बेटे ने टूटे मोबाइल से सीखी कोडिंग, अब विदेश में करेगा पढ़ाई

Haryana से सीधे Harvard: किसान के बेटे ने टूटे मोबाइल से सीखी कोडिंग, अब विदेश में करेगा पढ़ाई

रामधारी सिंह दिनकर की इन पंक्तियों को सच कर दिखाया है हरियाणा के एक 12 साल के लड़के ने. कार्तिक जाखड़ ने सिर्फ़ 12 साल की उम्र ने सिर्फ़ अपने परिवार का बल्कि पूरे गांव का नाम रौशन कर दिया है. बिना किसी महंगे फ़ोन, लैपटॉप या टैब के कार्तिक ने तीन ऐप्स बना दिए और अब वो पढ़ाई के लिए हार्वर्ड यूनिवर्सिटी  जाएगा.

साधारण से फ़ोन से किया असंभव को संभव किया

गुड न्यूज़ टुडे के एक लेख के अनुसार, कार्तिक हरियाणा के झज्जर ज़िले के झांसवा गांव का रहने वाला है. कार्तिक के घर में वो तमाम सुविधाएं नहीं हैं जो शहर में रहने वालों को मिलती है. न कोई लेटेस्ट गैजेट्स हैं और न ही 24 घंटे बिजली आती है. तमाम परेशानियों के बावजूद कार्तिक ने वो असंभव को संभव कर दिखाया.

यूट्यूब से सीखी कोडिंग

कार्तिक ने बताया कि पहले घर पर कीपैड वाला फ़ोन था. लॉकडाउन जब स्कूल बंद हुए और पढ़ाई ऑनलाइन होने लगी तब कार्तिक के पिता ने स्मार्टफ़ोन खरीदा. स्कूल की पढ़ाई के दौरान ही कार्तिक ने यूट्यूब पर कोडिंग और ऐप डेवलपिंग के बारे में वीडियोज़ देखे.

यूट्यूब में सेल्फ़ ट्रेनिंग वीडियोज़ और ट्यूटोरियल्स देखकर कार्तिक ने कोडिंग सीख ली और ऐप बनाने की कोशिश की.

टूटी स्क्रीन वाले फ़ोन से बना दिए 3 ऐप

आजतक के लेख के अनुसार, कार्तिक के फ़ोन की स्क्रीन भी टूट गई थी लेकिन उन पर कुछ कर दिखाने का जुनून सवार था. टूटे फ़ोन से ही उन्होंने कोडिंग की और एक नहीं बल्कि तीन-तीन ऐप्स डेवलप कर दिए. ये तीनों लर्निंग ऐप्स हैं. बिना किसी कोचिंग या किसी टीचर की मदद से ही कार्तिक ने ये कारनामा कर दिखाया.

किसान पिता के बेटा का कमाल

कार्तिक के पिता किसान हैं और खेती-बाड़ी से ही ये घर चलता है. कार्तिक घर में सबसे छोटा है और उससे बड़ी तीन बहने हैं. कार्तिक ने सबसे पहले GK से संबंधित लूसेंट जीके ऑनलाइन ऐप बनाया.

दूसरे ऐप का नाम श्री राम कार्तिक लर्निंग सेंटर है. इस ऐप के ज़रिए ग्राफ़िक्स डिज़ाइनिंग सीखा जा सकता है. तीसरे ऐप का नाम श्री राम कार्तिक डिजिटल एजुकेशन है जिसके ज़रिए डिजिटल लर्निंग संबंधित जानकारियां हासिल की जा सकती हैं.

कार्तिक द्वारा बनाए गए ऐप्स के ज़रिए 45 हज़ार बच्चों को फ़ायदा हो रहा है. कार्तिक को कई पुरस्कार भी मिल चुके हैं. कार्तिक को हार्वर्ड में भी पढ़ने का मौका मिल गया है और वो वहां से कंप्यूटर सांइस की पढ़ाई कर रहे हैं.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Dhara Patel

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!