अर्थराइटिस और पेट में कीड़े होने जैसी बीमारियों में फायदेमंद है हरड़ का मुरब्बा, जानें कब खाएं और कैसे खाएं

मुरब्बा खाना किसे नहीं पसंद है। ये खाने में जितना टेस्टी होता है उतना ही इसे खाने के फायदे भी होते हैं। तो, आज हम आपको हरड़ का मुरब्बा (Harad ka Murabba) के बारे में बताएंगे जिसे खाना आपकी सेहत के लिए कई प्रकार से काम कर सकते हैं। पहले तो, ये आपके शरीर में गर्मी पैदा करता है और इम्यूनिटी बढ़ाता है।

दूसरा ये पेट के लिए बहुत फायदेमंद हैं। ये पाचन तंत्र को तेज करता और पेट से जुड़ी समस्याओं जैसे अपच और गैस की समस्या को दूर करता है। इसके अलावा भी हरड़ का मुरब्बा खाने के फायदे (harad ka murabba benefits) कई हैं। आइए हम आपको बताते हैं विस्तार से।

1. अर्थराइटिस में

सर्दियों में जैसे-जैसे तापमान कम होने लगता है, अर्थराइटिस की समस्या बढ़ने लगती है। ऐसे में हरड़ का एंटी इंफ्लेमेटरी गुण हड्डियों के बीच सूजन को कम करता है और दर्द से राहत दिलाता है। इसके अलावा ये शरीर में गर्मी पैदा करता और ज्वाइंट्स के बीच अकड़न को कम करता है।

2. पेट में कीड़े होने पर

हरड़ की खास बात यह भी है कि ये गर्म होने के साथ एंटीबैक्टीरियल भी है। साथ ही ये पेट के कीड़ों को मारने और पाचन तंत्र को हेल्दी रखने में मदद करता है। इसलिए जिन लोगों में पेट में कीड़े की समस्या है तो, उनके लिए हरड़ का मुरब्बा एक कारगर उपाय हो सकता है।

3. पथरी में

पथरी की समस्या में हरड़ का मुरब्बा तेजी से काम करता है। ये एक प्रकार का डायूरिटिक है जो कि पेशाब के साथ पथरी को बाहर निकालने में मदद कर सकता है। ये पहले पथरी को पिघलाता है और इसे शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है।

हरड़ का मुरब्बा कब और कैसे खाना चाहिए?

हरड़ का मुरब्बा खाते समय ध्यान रखें कि ये गर्म होता है इसलिए सुबह इसे खाली पेट खाएं। ये आप इसे रात में सोने से पहले दूध के साथ खा कर सो सकते हैं। ध्यान रखें बस 1 या 2 मुरब्बा खाएं। ये आपको इन समस्याओं से बचाव में मदद करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!