गुजरात के इंजीनियर ने 5 साल पहले क्रिकेट प्लेयर्स के लिए तैयार किया मोबाइल ऐप, अब सालाना 3.5 करोड़ रुपए है टर्नओवर

देश-दुनिया में क्रिकेट की फैन फॉलोइंग अन्य खेलों के मुकाबले काफी ज्यादा है। क्रिकेट मैच देखने के लिए लोग टीवी के सामने घंटों बैठने को तैयार रहते हैं। टी-20 के आने के बाद तो युवाओं में इसका क्रेज और ज्यादा बढ़ गया है। हर जगह छोटे से लेकर बड़े-बड़े लेवल के टूर्नामेंट आयोजित किए जा रहे हैं। इसी क्रेज को देखते हए अहमदाबाद के एक इंजीनियर ने इसे कमाई का जरिया बना डाला। इनका नाम है- अभिषेक देसाई।

दरअसल अभिषेक ने 5 साल पहले अपने दोस्तों की मदद से एक ऐसा एप बनाया, जिसमें लाइव क्रिकेट स्कोर के साथ ही मैच की लाइव स्ट्रीमिंग भी की जा सकती है। अब तक इस ऐप से दुनिया भर के करीब 95 लाख प्लेयर जुड़ चुके हैं। ऐप का इस्तेमाल 70 से 75 देशों में किया जा रहा है। इससे 3.5 करोड़ रुपए का टर्नओवर उन्हें हासिल हो रहा है।

नए प्रोजेक्ट के लिए कंपनी छोड़ी

अभिषेक ने बताया कि इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने 2004 में अपने दोस्तों के साथ GDCORP नाम की कंपनी शुरू की। इस कंपनी में वह देश-विदेश के कारोबारियों के लिए एक ऐप डेवलप कर रहे थे। कंपनी अच्छा काम कर रही थी, लेकिन कुछ अलग करने की कोशिश में हमने 2007 में पेटपूजा नाम से एक ऐप बनाया। जिसमें अहमदाबाद के लोग 100 से ज्यादा रेस्टोरेंट से खाना मंगवा सकते थे। दो साल तक तक तो हमने इसे चलाया, लेकिन फिर बंद करना पड़ा, क्योंकि ग्राहकों की संख्या कम पड़ रही थी।

चाय की दुकान पर आया आइडिया

अभिषेक बताते हैं कि मैं एक बार चाय की दुकान पर बैठा था। उसी समय पास के मैदान पर क्रिकेट खेल रहे कुछ लड़के चाय पीने आए और बल्लेबाजी सहित क्रिकेट स्कोर, हार और जीत जैसी कई बातों पर चर्चा करने लगे। यह चर्चा बिना डेटा की थी। यानी जो मैच खेल रहे थे, उनके रिकॉर्ड्स कागजों पर ही थे। उससे मुझे यह विचार आया कि इस समस्या को हल किया जाए। फिर मैंने मार्केट में मौजूद कई क्रिकेट ऐप देखे, लेकिन किसी न किसी में कोई न कोई दिक्कत थी।

परिवार और दोस्तों की मदद से 2016 में बनाया ऐप

अभिषेक कहते हैं कि इसको लेकर हमने अहमदाबाद में एक सर्वे किया। शहर के जीएमडीसी, गणेश हाउसिंग समेत अलग-अलग मैदानों में गए और वहां के क्रिकेटरों से मिले। फिर हमें पता चला कि 70% मैच कागजों पर बनते हैं। यानी स्कोरर कड़ी मेहनत करता है, लेकिन वह डेटा मैच के बाद किसी के काम नहीं आता। मुझे लगा कि अगर इसको लेकर एक ऐप बनाया जाता है तो अच्छा रिस्पॉन्स मिलेगा। फिर मैंने इस बिजनेस प्लान को अपने दोस्तों और परिवार के साथ शेयर किया। उन्हें भी यह आइडिया पसंद आया और साल 2016 में हमने ‘क्रिक हीरोज’ नाम से ऐप तैयार किया।

GU के टूर्नामेंट से ‘क्रिक हीरोज’ की हुई शुरुआत

वे कहते हैं कि अक्टूबर 2016 में हमने क्रिक हीरोज का पहला सीजन लॉन्च किया। तब गुजरात यूनिवर्सिटी के इंटर कॉलेज में टूर्नामेंट था। यह टूर्नामेंट गुजरात के करीब 50 कॉलेजों के बीच खेला जा रहा था। हमें इस टूर्नामेंट में स्कोरिंग करने का मौका मिला। हमने अपने ऐप के पहले एडिशन से पूरे टूर्नामेंट का स्कोर बनाया। हमें पता चला कि शनिवार-रविवार को आयोजित होने वाले मैचों के अलावा टूर्नामेंट के मैचों का भी बहुत बड़ा मार्केट है। फिर हमने टूर्नामेंट के आयोजकों को ध्यान में रखते हुए ऐप में कुछ बदलाव किए। जिसमें टूर्नामेंट का आयोजक अपने टूर्नामेंट रजिस्टर कर सके और मैच को खुद स्कोर कर सके।

ICC के 25-30 क्रिकेट एसोसिएशन से भी जुड़े

अभिषेक के दोस्त मित शाह ने सितंबर 2016 में क्रिक हीरोज को जॉइन किया। वे खुद गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन के खिलाड़ी रह चुके हैं और गुजरात की अंडर-17, अंडर-23 टीम का हिस्सा रह चुके हैं। उन्होंने क्रिकेट एसोसिएशन से संपर्क करना शुरू कर दिया, क्योंकि यहां भी कई लोग कागजों पर ही स्कोर कर रहे थे। अभिषेक बताते हैं- इससे हमारे ऐप की अहमियत बढ़ती चली गई। अभी हमारे ऐप से 24 राज्य क्रिकेट संघ जुड़े हुए हैं। देश के 100 से अधिक जिला स्तरीय क्रिकेटर संघ भी शामिल हैं। वहीं, ICC के 25-30 क्रिकेट एसोसिएशन भी हमसे जुड़े हुए हैं। देश के साथ-साथ विदेश के क्रिकेट एसोसिएशन जैसे श्रीलंका, अफगानिस्तान, अफ्रीका, यूरोप, अमेरिका भी इस ऐप का इस्तेमाल कर रहे हैं।

इस प्रकार किया जाता है क्रिक हीरोज का इस्तेमाल

क्रिक हीरोज में शामिल होने के लिए प्लेयर को रजिस्ट्रेशन कराना होता है। लॉग-इन करने के बाद जब भी मैच हो, आप उसकी स्कोरिंग शुरू कर सकते हैं। आपके पूरे मैच की लाइव स्कोरिंग शुरू हो जाएगी। इसका मतलब है कि दुनिया में कोई भी आपके मैच का स्कोर देख सकेगा। साथ ही आप खुद की क्रिकेटर के रूप में प्रोफाइल भी बना सकते हैं। यानी आपने अब तक अपने मैचों में कितने रन बनाए हैं, स्ट्राइक रेट कितना है, औसत कितना है, ऐसे कई डेटा पॉइंट हैं, जो आपको ऑटोमेटिक मिल जाएंगे। इससे खिलाड़ी अपने खेल में और सुधार कर सकेगा। वे कहते हैं कि क्रिकेट स्कोर देखने के लिए कोई शुल्क नहीं देना होता है, लेकिन अगर कोई मैच को लाइव स्ट्रीम करना चाहता है तो उसे प्रति मैच के हिसाब 199 रुपए का भुगतान करना होता है।

किसी भी साल के मैच देखे जा सकते हैं

क्रिक हीरोज से जुड़ने के बाद खिलाड़ी के सभी मैचों का डेटा रहता है। यानी कि वह 5 साल बाद भी अपने पुराने मैच का डेटा हासिल कर सकता है। उदाहरण के लिए किसी खिलाड़ी ने 2016 में किस तारीख को कौन सा मैच खेला, कितने रन बनाए, कैसे आउट हुआ आदि की डिटेल्स एक क्लिक करते ही मिल जाती है। इससे खिलाड़ी को यह पता चल सकेगा कि उसके खेल से हर साल कितना अंतर आ रहा है।

साथ ही इस ऐप में लाइव स्क्रीनिंग का फीचर भी जोड़ा गया है, जिससे खिलाड़ी अपने मैच को मोबाइल के कैमरे के जरिए ही लाइव कर सकता है। इससे देश-विदेश में बैठे लोग भी आपका मैच लाइव देख सकते हैं। लाइव स्क्रीनिंग में प्लेयर की हरेक बॉल के अलग-अलग वीडियो ऑटोमेटिक बन जाते हैं। यानी कि प्लेयर मैच की हाईलाइट भी देख सकता है।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!