‘भइया, पान मसाले का विज्ञापन मत करो,’ एक लड़की ने भेजा शाहरुख-अजय को 5 रुपये का मनी ऑर्डर

लोग अपने चहेते सितारों को तरह तरह के उपहार भेजते हैं । ऐसे उपहारों की कीमत भी बहुत ज्यादा होती है ।

ऐसे में ये हैरान करने वाली बात है कि मध्य प्रदेश के खरगोन की रहने वाली एक लड़की ने शाहरुख और अजय देवगन को उपहार के रूप में पांच-पांच रुपए का मनी ऑर्डर भेजा है।

भेजे 5-5 रुपये के मनी ऑर्डर

इस बात से हर कोई हैरान है कि आखिर कोई इतने बड़े सितारों को 5-5 रुपये के मनी ऑर्डर क्यों भेजेगा? दरअसल, लड़की ने इस मनी ऑर्डर के साथ दोनों सितारों से पान मसाले का विज्ञापन न करने की अपील की है । इन दोनों सितारों को पांच रुपये का मनी ऑर्डर भेजने वाली लड़की है धड़कन जैन । उन्होंने दोनों सितारों को ट्विटर पर टैग भी किया है।

धड़कन जैन का मानना है कि पान मसाले से युवा पीढ़ी पर गलत असर पड़ रहा है। इसलिए उन्होंने पान मसाले का विज्ञापन करने वाले बड़े फिल्म स्टारों को पांच पांच रुपए का मनी ऑर्डर भेजा है। ताकि वह पान मसाले के विज्ञापन का ऐड करना बंद कर दे।

शाहरुख-अजय को माना भाई

धड़कन ये काम 24 मई को किया, इस दिन ब्रदर्स डे बनाया जाता है। उनका कहना है कि वह अपने माता-पिता की इकलौती संतान हैं और उन्होंने शाहरुख खान और अजय देवगन को अपना भाई माना है। यही वजह है कि उन्होंने उन्हें पांच पांच रुपए का मनीआर्डर भेजा है, क्योंकि वह जो पान मसाले का ऐड कर रहे हैं वह गलत है।

धड़कन के अनुसार इन सेलिब्रिटीज को बहुत से युवा फॉलो करते हैं। ऐसे में अगर ये पान मसाले के विज्ञापन करेंगे तो युवाओं पर बुरा असर पड़ेगा । धड़कन जैन का कहना है कि शाहरुख खान और अजय देवगन भी अक्षय कुमार की तरह पान मसाले का ऐड करना बंद कर दें ।

मार्च से कर रही है ट्वीट

 

धड़कन जैन के अनुसार वह 28 मार्च 2021 से इन सितारों को ट्वीट कर रही हैं । उन्होंने अपना पहला ट्वीट अजय देवगन शाहरुख खान और अक्षय कुमार को किया था। इस ट्वीट में उन्होंने सबको सलाह दी थी कि वे पान मसाले का ऐड करना छोड़ दें।

धड़कन ने बताया कि उन्होंने दोनों सितारों को पांच रुपए का मनी ऑर्डर इसलिए भेजा है क्योंकि पान मसाले का एक पैकेट पांच रुपए का आता है। उन्होंने बताया कि मैं चाहती हूं कि वह पांच रुपए के पान मसाले का पैकेट मुझे भी गिफ्ट के तौर पर भेजें।

मुझे उसे खाना नहीं है बल्कि इसके पीछे मेरा उद्देश्य उन्हें हर्ट करना है, ताकि वे इस तरह के विज्ञापन करना बंद कर दें।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!