एक्सप्रेसवे से बांके बिहारी मंदिर तक बनेगा ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे

यमुना एक्सप्रेसवे प्राधिकरण ने उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद की बैठक में फेस-2 में राया अर्बन सेंटर में बनने वाली हैरिटेज सिटी की डीपीआर का प्रस्तुतीकरण किया गया। बैठक में यमुना एक्सप्रेसवे से बांके बिहारी मंदिर तक सीधे कनेक्टिविटी के लिए ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे बनाने का फैसला लिया गया।

बुधवार को यमुना एक्सप्रेसवे विकास प्राधिकरण के सीईओ डॉ अरुणवीर सिंह की अध्यक्षता में हुई बैठक में डीपीआर बनाने वालीं संस्था सीबीआरई साउथ एशिया प्रा. लि. के प्रतिनिधि ने योजना के तहत विकास कार्यों की रूपरेखा विस्तार से बताई।

उत्तर प्रदेश ब्रज विकास परिषद के साथ यमुना एक्सप्रेसवे विकास प्राधिकरण की बैठक में भगवान श्रीकृष्ण के जीवन पर आधारित विकास कार्यों के प्रस्ताव प्रस्तुत किए गए हैं। यमुना प्राधिकरण ने यमुना एक्सप्रेसवे से बांके बिहारी मंदिर तक सीधे कनेक्टिविटी के लिए ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे बनाने का फैसला लिया गया।

इस ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे के दोनों ओर पांच सौ मीटर से लेकर एक किलोमीटर तक के क्षेत्र में हैरिटैज सिटी विकसित की जाएगी। बैठक में यमुना अथॉरिटी के सीईओ ने प्रस्ताव रखा कि हैरिटेज सिटी के लिए डीपीआर में यमुना एक्सप्रेसवे से बांके बिहारी मंदिर तक सीधे कनेक्टिविटी, पार्किंग और उच्च स्तरीय इंफ्रास्ट्रक्चर का प्रावधान किया जाए।

जिससे ब्रज क्षेत्र में आने वाले श्रद्धालुओं और प्रर्यटकों को हैरिटेज सिटी के अंदर सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा सकें।

उत्तर प्रदेश सरकार की ब्रज क्षेत्र में विकास के लिए पूर्व में प्रस्तावित कई परियोजनाएं भी इसमें शामिल हैं। इनमें चौरासी कोस परिक्रमा, वृन्दावन-मथुरा रोप-वे और एनएचएआई की ओर से प्रस्तावित वृन्दावन बाईपास को अथॉरिटी की हैरिटेज सिटी परियोजना से इंटीग्रेट किया जाएगा।

बैठक में उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद के सीईओ नगेंद्र प्रताप, एसीईओ पंकज वर्मा, मथुरा-वृंदावन अथॉरिटी की टाउन प्लानर रिचा कौशिक और एनएचएआई व कई संस्थाओं के प्रतिनिधि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!