शरद यादव के पैतृक गांव आंखमऊ में मातम

जनता दल यूनाइटेड के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव के निधन की सूचना से जिले में स्थित उनके पैतृक गांव आंखमऊ में मातम पसरा है। 1947 में बाबई तहसील के इस गांव में जन्मे शरद यादव के अंतिम संस्कार कार्यक्रम की तैयारी प्रशासन ने शुरू कर दी है।

समाजवादी नेता शरद यादव ने 75 वर्ष की आयु में गुरुवार शाम गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल में अंतिम सांस ली। पारिवारिक सूत्रों के अनुसार उनकी पार्थिव देह फिलहाल अंतिम दर्शन के लिए दिल्ली में उनके निवास पर रखी गई है। उनका अंतिम संस्कार आंखमऊ में किया जाएगा।

आंखमऊ के लोग उनके जीवनकाल की बातों को याद कर रहे हैं। अंतिम संस्कार गांव के ही श्मशान घाट पर किया जाएगा। हालांकि अभी इसके लिए निर्धारित समय की जानकारी नहीं मिल सकी है। स्थानीय प्रशासन ने अंतिम संस्कार की तैयारियां शुरू कर दी हैं। शरद यादव आमतौर पर होली मनाने गांव आते रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!