एक पैर नहीं मगर जज्बा कमाल का है! J&K का ये 14 वर्षीय लड़का रोज एक पैर से 2 Km चलकर स्कूल जाता है

जम्मू-कश्मीर के एक लड़के के एक वीडियो ने सोशल मीडिया का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित किया है.

इस वीडियो में सफेद शर्ट और नीले रंग की पैंट पहने व कंधों पर बैग लटकाए एक लड़का स्कूल जा रहा है. वीडियो को खास बनाता है इस लड़का का जज्बा.

एक पैर पर चल कर जाते हैं स्कूल

दरअसल स्कूल जा रहे इस लड़के का एक पैर नहीं है. नौगाम मावर गांव के निवासी परवेज अहमद हाजम अपनी विकलांगता के बावजूद अपने सपनों को पूरा करने के लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार हैं. 14 साल के परवेज का स्कूल 2 किमी दूर है और वह हर रोज एक पैर पर संतुलन बनाकर स्कूल जाने के लिए 2 किलोमीटर से अधिक की दूरी तय करते हैं.

2 साल की उम्र में खोया पैर

वह वर्तमान में सरकारी माध्यमिक विद्यालय नौगाम में 9वीं कक्षा में पढ़ रहे हैं. बताया जा रहा है कि, परवेज जब 2 साल के थे तब उनका एक गंभीररूप से जल गया था जिसके बाद उन्होंने अपना एक पैर हमेशा के लिए खो दिया.

हालांकि, सरकार ने उन्हें व्हीलचेयर प्रदान की है लेकिन दुर्भाग्य ये है कि उनके गांव की सड़कें इतनी खराब हैं कि वह उस व्हीलचेयर का उपयोग करने में असमर्थ हैं.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Lok Mantra अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!